कमल नाथ ने की नेमावर हत्याकांड की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की

Advertisements

नेमावर, देवास। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ सोमवार को नेमावर पहुंचे, उन्होंने यहां घटित नृशंस हत्याकांड के पीड़ित परिवार से मुलाकात कर अपनी शोक संवेदना व्यक्त की। इतना ही नहीं कमल नाथ ने कहा कि पुलिस पर अत्यधिक दबाव है। मैं चाहता हूं कि हत्याकांड की जांच सीबीआइ से हो और एक गैर राजनीतिक नागरिक समिति बने जो पूरे मामले को देखे। उन्होंने पीड़ित परिवार को कांग्रेस पार्टी की तरफ से पांच लाख देने की बात भी कही है।

कमल नाथ ने पीड़ित परिवार से चर्चा कर इस हत्याकांड व घटना की पूरी विस्तृत जानकारी ली। पीड़ित परिवार ने उन्हें बताया कि किस प्रकार पुलिस ने इस हत्याकांड पर शुरुआत में लापरवाही की, आरोपी खुलेआम घूमते रहे, उन्हें पकड़ा तक नहीं गया। आरोपियों से पूछताछ तक नहीं की गई। उनकी रिपोर्ट लिखने में आनाकानी की गई। अपराधी को संरक्षण मिलता रहा।

इसे भी पढ़ें-  MP Cabinet Meeting: मध्य प्रदेश कैबिनेट की बैठक में लिए गए कई बड़े फैसले, जानिए यहां

वहीं कमल नाथ ने पीड़ित परिवार को आश्वस्त किया कि वे चिंता ना करें। दुख की इस घड़ी में वे और पूरी कांग्रेस साथ खड़ी है। उन्हें न्याय दिलाने में हरसंभव मदद करेंगे। पूर्व सीएम ने कहा कि जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिलेगा, हम चैन से नहीं बैठेंगे। इस पूरे मामले की सीबीआइ जांच होना चाहिए ताकि आरोपियों को मिले राजनीतिक संरक्षण का खुलासा हो सके, किस प्रकार की लापरवाही इस जघन्य हत्याकांड को लेकर बरती गई। सच सामने आ सके और पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। इस दौरान इनके साथ नकुल नाथ, अरुण यादव, सज्जन वर्मा, कांतिलाल भूरिया, जीतू पटवारी, विक्रांत भूरिया व अन्य नेतागण उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें-  Breaking: भारतीय महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास, ऑस्ट्रेलिया को हरा कर सेमीफाइनल में प्रवेश

नेमावर पहुंचेंगे कमल नाथ, आंदोलन की तैयारी
नेमावर पहुंचेंगे कमल नाथ, आंदोलन की तैयारी
यह भी पढ़ें
मुख्य आरोपित के भाई की आज रिमांड होगी खत्म

वहीं मामले में शनिवार को मुख्य आरोपित सुरेंद्र सहित तीन को देवास कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से सुरेंद्र और एक अन्य को जेल भेज दिया गया वहीं आरोपित राकेश और सुरेंद्र के भाई वीरेंद्र को सोमवार शाम चार बजे तक पुलिस रिमांड पर सौंपा गया था। दोनों आरोपितों को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। हत्याकांड के बाद वीरेंद्र ही रूपाली की स्कूटी को लेकर हरदा के पास अपने मामा के यहां छुपाने के लिए लेकर गया था। मामले में वीरेंद्र से पूछताछ के लिए पुलिस ने रिमांड मांगा था। News Updating…

Advertisements