भारत में स्पुतनिक-V वैक्सीन तैयार करेगा पैनेसिया बायोटेक, DGCI ने दी मंजूरी

Advertisements

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने नई दिल्ली स्थित बायोटेक्नोलॉजी कंपनी Panacea Biotec (पैनेसिया बायोटेक लिमिटेड) को भारत में रूस की वैक्सीन स्पूतनिक-V तैयार करने की मंजूरी दे दी है।

कंपनी ने रविवार को बताया कि हम इस वैक्सीन को लोकली बनानी वाली पहली फर्म होंगे।

गौरतलब है कि पैनेसिया बायोटेक उन छह कंपनियों में से एक है, जिन्होंने रूस के प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF), रूस के संप्रभु धन कोष के साथ साझेदारी की है, जो कि विश्व स्तर पर वैक्सीन का विपणन कर रहा है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि पैनेसिया बायोटेक रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के सहयोग से कोविड -19 के खिलाफ स्पुतनिक वी वैक्सीन के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल से विनिर्माण लाइसेंस प्राप्त करने की प्रक्रिया में है। भारत में Panacea Biotec द्वारा निर्मित Sputnik V का उपयोग करने के लिए लाइसेंस बेहद जरूरी शर्त है। कोरोना के खिलाफ दो खुराक वाली ये वैक्सीन  91.6% प्रभावी है। हिमाचल प्रदेश के बद्दी में पैनेसिया बायोटेक की सुविधाओं में उत्पादित प्रारंभिक परीक्षण बैचों को पहले गुणवत्ता नियंत्रण के लिए रूस के गमालेया केंद्र में भेज दिया गया था।

इसे भी पढ़ें-  भारत में जगह-जगह क्यों है देसी टीके कोवैक्सीन की किल्लत? सरकारी वैक्सीन पैनल प्रमुख ने बताया

अभी तक कंपनी ने केवल टेस्ट ट्रायल के लिए लाइसेंस लिया हुआ था। टेस्ट में खरा उतरने के बाद अब व्यावसायिक उत्पादन के लिए कंपनी लाइसेंस के लिए आवेदन कर रही है। उधर, बीते माह दिल्ली के उच्च न्यायालय ने कंपनी को टीके बनाने में मदद करने के लिए केंद्र सरकार को 14 करोड़ जारी करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट के इस निर्णय से पैनेसिया को उम्मीद बंधी है। अगर यह राशि कंपनी को मिलती है तो रूसी कोविड टीके स्पूतनिक वी के उत्पादन में तेजी आएगी।

Advertisements