पुष्कर सिंह धामी चुने गए नए सीएम, रविवार को राजभवन में होगा शपथ ग्रहण समारोह

Advertisements

पुष्कर सिंह धामी चुने गए नए सीएम, रविवार को राजभवन में होगा शपथ ग्रहण समारोह पहले शनिवार की शाम ही पुष्कर सिंह धामी नए सीएम के रूप में शपथ लेने वाले थे, लेकिन बाद में इस कार्यक्रम में बदलाव कर दिया गया। अब रविवार को शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री पद से सांसद तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद अब पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए हैं। बता दें कि पुष्कर सिंह धामी खटीमा विधानसभा सीट से भाजपा विधायक हैं। 45 वर्षीय धामी उत्तराखंड के सबसे युवा मुख्यमंत्री हैं।

उत्तराखंड : पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखंड के 11वें मुख्यमंत्री, जानिए उनके बारे में खास बातें

इसे भी पढ़ें-  Barabanki Bus Accident बाराबंकी : अयोध्या हाईवे पर डबल डेकर बस को ट्रक ने मारी टक्कर, 18 की मौत, पीएम ने शोक जताया

पुष्कर सिंह धामी


शनिवार को भाजपा विधायक मंडल दल की बैठक में नए मुख्यमंत्री के रूप में उनके नाम पर मुहर लगी। पहले शनिवार की शाम ही पुष्कर सिंह धामी नए सीएम के रूप में शपथ लेने वाले थे, लेकिन बाद में इस कार्यक्रम में बदलाव कर दिया गया। अब रविवार को राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा।

उत्तराखंड: तीरथ के इस्तीफे के बाद बोले हरीश रावत- दोनों सीएम भले आदमी थे, भाजपा ने दोनों को चौराहे पर ला दिया

आज तीन बजे देहरादून स्थित भाजपा मुख्यालय में विधायक दल की बैठक के दौरान सभी ने उनके नाम पर सहमति जताई। शुरुआती दौर में राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी का नाम कहीं भी चर्चा में नहीं था।

इसे भी पढ़ें-  सबको जान से मार देंगे: मिजोरम के सांसद के वनलालवेना को धमकी पड़ी भारी, अब पूछताछ के लिए दिल्ली आ रही असम पुलिस

उत्तराखंड: जिन फैसलों के चलते त्रिवेंद्र ने गंवाई थी कुर्सी, उन्हें पूरी तरह पलट नहीं पाए तीरथ सिंह रावत

इस दौरान पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाजपा ने मुझे जनता की सेवा का मौका दिया। जनता के जो भी मुद्दे हैं उनका समाधान किया जाएगा। कहा कि हाईकमान ने उन पर भरोसा जताया है। वह इस भरोसे पर खरे उतरेंगे।

बैठक के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में केंद्रीय मंत्री एनएस तोमर, राष्ट्रीय महासचिव डी पुरंदेश्वरी के साथ प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम प्रदेश मुख्यालय पहुंचे थे। दोपहर ढाई बजे से ही विधायकों व सांसदों का भाजपा मुख्यालय पहुंचने का सिलसिला जारी था।

Advertisements