मोदी सरकार कोरोना केयर फंड के तहत हर किसी को दे रही 4000 रुपए? जानें सच्चाई

Advertisements

भारत सिर्फ कोरोना वायरस से ही नहीं, बल्कि उसके साथ-साथ कई तरह की अफवाहों से भी लड़ रहा है।

वायरस से वैक्सीन तक को लेकर देश में अलग-अलग अफवाहें चलती रही हैं और सरकार को हर बार सच सामने रखना पड़ा है।

इस बार भी एक व्हाट्सऐप मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि सरकार हर किसी को ‘कोरोना केयर फंड योजना’ के तहत सभी को 4000 रुपए की सहायता राशि प्रदान कर रही है।

तो चलिए जानते हैं क्या है इस दावे की सच्चाई।

दरअसल, व्हाट्सऐप से लेकर सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार ‘कोरोना केयर फंड योजना’ के तहत सभी को 4000 रुपए की सहायता राशि प्रदान कर रही है। इसमें यह भी दावा किया जा रहा है कि नीचे फॉर्म भरकर अप्लाई करने से चार हजार रुपए मिल जाएंगे। बता दें कि यह वायरल मैसेज हिंदी में है। हालांकि, जब इस वायरल मैसेज की पड़ताल की गई तो कुछ और सच्चाई सामने आई।

प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो यानी पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने इस दावे को फर्जी बताया है। पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर बताया कि यह दावा फ़र्ज़ी है। भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है। यहां ध्यान देने वाली बात है कि फर्जी दावे को हकीकत में बदलने की कोशिश के रूप में संदेश पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी तस्वीर है। हालांकि, यह स्पष्ट है कि भारत सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं है।

@PIBFactCheck
एक #WhatsApp मैसेज में दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार ‘कोरोना केयर फंड योजना’ के तहत सभी को ₹4000 की सहायता राशि प्रदान कर रही है। #PIBFactCheck: यह दावा #फ़र्ज़ी है। भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है।

एक व्हाट्सएप मैसेज पर फर्जी शब्द की मोहर जिसमें दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार 'कोरोना केयर फंड योजना' के तहत सभी को ₹4000 की सहायता राशि प्रदान कर रही है।

242
Twitter पर COVID-19 के संबंधित ताज़ा जानकारी देखें

बता दें कि यह ट्वीट ऐसे वक्त में आया है, जब कुछ दिनों पहले ही केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 28 जून को आठ नई योजनाओं की घोषणा की थी, जिसमें कोविड प्रभावितों के लिए 1.1 लाख करोड़ की ऋण गारंटी योजना और आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना के तहत अतिरिक्त 1.5 लाख करोड़ रुपये शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें-  CBSE 12th Evaluation Criteria: इस फॉर्मूले से तैयार हुआ है सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट
Advertisements