Women Empowerment News: महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने सिखाएंगे टैक्सी चलाना

Advertisements

Gwalior Women Empowerment News: मध्य प्रदेश परिवहन विभाग ने राज्य में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हल्के कमर्शियल वाहन (टैक्सी) ड्राइविंग प्रशिक्षण योजना का विस्तार किया है। अब इसकी संभागीय व जिला स्तर पर भी शुरुआत की जा रही है। ड्राइविंग प्रशिक्षण के बाद महिलाओं को रोजगार मिल सकेगा। 155 घंटे के प्रशिक्षण के दौरान व्यावहारिक व सैद्धांतिक पहलुओं की जानकारी महिलाओं की दी जाएगी। जुलाई के पहले सप्ताह में आवेदन मांगे जाएंगे। दूसरे सप्ताह में प्रशिक्षण की शुरुआत हो सकती है।

परिवहन विभाग ने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) के साथ मिलकर सबसे पहले इंदौर में इसकी शुरुआत की गई थी। इसके लिए प्रदेशभर से महिलाओं के आवेदन आए थे। करीब 200 महिलाओं को हल्के कमर्शियल वाहन चलाना सिखाया गया था। महिलाओं के रहने और खाने की व्यवस्था विभाग ने की थी। इस प्रशिक्षण के प्रति महिलाओं का रुझान काफी अधिक रहा था। आवेदन की संख्या अधिक होने से साक्षात्कार लेकर महिलाओं का चयन किया गया था। इस रुझान को देखते हुए अब बड़े स्तर पर इसका विस्तार किया जा रहा है। जुलाई में संभागीय व जिला स्तर पर इसकी शुरुआत की जा रही है। ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर, इंदौर, रीवा, सागर, खंडवा, झाबुआ, उज्जैन, उमरिया और छिंदवाड़ा का चयन इसके लिए किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Transfer: अधिकारी कर्मचारी के ट्रांसफर पर बड़ा फर्जीवाड़े का खुलासा, क्राइम ब्रांच ने शुरू की जांच 

यह रहेगी चयन प्रक्रिया

  • चयनित जिलों में प्रशिक्षण के लिए वहीं आरटीओ कार्यालय में आवेदन करना होगा। आवेदन की संख्या 30 से अधिक होती है तो वहीं की कमेटी महिलाओं का चयन करेगी। जिस महिला को ज्यादा जरूरत होगी, उसका चयन किया जाएगा। आवेदन कोई भी महिला कर सकती है।

-प्रशिक्षण निशुल्क रहेगा। वाहन की व्यवस्था परिवहन विभाग करेगा। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उन्हें ड्राइविंग लाइसेंस प्रदान किया जाएगा। प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा।

परिवहन विभाग का इसलिए अनूठा है यह प्रशिक्षणः महिलाओं की सुरक्षा और आत्मनिर्भरता को लेकर यह एक बड़ा कदम होगा, क्योंकि अभी टैक्सी चलाने का काम महिलाएं नहीं करती हैं। विभाग हल्के कमर्शियल वाहन भी महिलाओं को फाइनेंस कराने में मदद करने पर विचार कर रहा है, जिससे उसका खुद का वाहन हो सके।

इसे भी पढ़ें-  90 हजार लेकर दिव्यांग से कराई शादी, रात को भागी दुल्हन

मुकेश कुमार जैन, आयुक्त परिवहन विभाग, मध्य प्रदेश

Advertisements