कोवैक्सीन की खरीद को लेकर ब्राजील में मचा बवाल, राष्ट्रपति बोलसोनारो पर भी आरोप, 32.4 करोड़ डॉलर की डील रद्द करने का ऐलान

Advertisements

ब्राजील ने भारत के बने कोविड टीके को लेकर जारी बवाल के बीच कोवैक्सीन की खरीद वाले सौदे को रद्द करने का फैसला लिया है। कोवैक्सीन की खरीद में अनियमितताओं को लेकर ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो पर भी आरोप लगे हैं। ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री ने घोषणा की है कि उनका देश भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 2 करोड़ खुराकों की खरीद वाले 32.4 करोड़ डॉलर के सौदे को रद्द कर रहा है।

मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्री मार्सलो क्वीरोगा और फेडरल कम्पट्रोलर जनरल (CGU) के चीफ वागनेर रोजारियो ने कहा कि वैक्सीन की खरीद की प्रक्रिया की जांच की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  जान का खतरा देख कश्मीर छोड़ रहे प्रवासी, बिहार जाने वाली ट्रेनों में लंबी वेटिंग

ब्राजील की जायर बोलसोनारो सरकार पर ऊंची कीमत पर कोवैक्सीन खरीद के आरोप लग रहे हैं। इसको लेकर खुद बोलसोनारो भी आरोपों के घेरे में है। ब्राजील के एक सीनेटर ने जायर बोल्सोनारो के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा दायर किया है। इस मामले में उन पर वैक्सीन खरीद में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच की मांग की गई है। इसके बाद ब्राजील सरकार ने डील को रद्द करने का फैसला किया है।

आरोप था कि ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी पर भारत बायोटेक की कोवैक्सीन खरीदने को लेकर दबाव बनाया गया था। इस बारे में ब्राजील के राष्ट्रपति को जानकारी थी लेकिन उन्होंने फिर भी सौदे को रोका नहीं और ब्राजील को महंगी कोवैक्सीन खरीदनी पड़ी। यह भी कहा जा रहा है कि ब्राजील के पास किफायती फाइजर की वैक्सीन खरीदने का विकल्प भी था लेकिन उसने भारत बायोटेक की महंगी वैक्सीन खरीदी।

Advertisements