1 जुलाई से 8 अहम बदलावों के लिए रहें तैयार, बैंकिंग होगी महंगी और लर्निंग लाइसेंस बनवाना होगा आसान

Advertisements

एक जुलाई से नया महीना शुरू हो रहा है। नए महीने शुरू होने के साथ ही बैंकिंग, टीडीएस, लाइसेंस से लेकर कैश निकालने तक के नियमों में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं, जिनका सीधा असर आपके के जीवन पर पड़ने वाला है। हम आपको ऐसे बदलावों के बारे में बता रहे हैं जिनका असर आप पर पड़ेगा।

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहकों को 1 जुलाई से नकद निकासी और चेक इस्तेमाल के लिए अधिक पैसे देने होंगे। एसबीआई अगले महीने की पहली तारीख से नियम में बदलाव करने जा रहा है।

एसबीआई ग्राहकों को बैंक से चार बार से ज्यादा पैसा निकालने पर अतिरिक्त चार्ज देना होगा जिसमें बैंक के एटीएम भी शामिल हैं। चार बार पैसा निकालने के बाद हर निकासी पर आपको 15 रुपये और जीएसटी जोड़ कर शुल्क देना होगा।

सभी नए सर्विस चार्ज बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों पर लागू होंगे। इन खाताधारकों को 10 चेक लेने पर 40 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज देना होगा।

 

आयकर विभाग रिटर्न नहीं भरने वालों से 1 जुलाई से ज्यादा टीडीएस, टीसीएस वसूलने की तैयारी है। आयकर विभाग ने तय किया है कि जिन्होंने पिछले दो वर्षों से आयकर रिटर्न जमा नहीं किया है, उनपर अब सख्ती से निपटा जाएगा।

इसे भी पढ़ें-  MP Board 12th Result 2021 Declared: एमपी बोर्ड 12वीं का रिजल्ट जारी, देखें mpbse.nic.in पर

 

यह नियम उन टैक्सपेयर्स पर लागू होगा, जिनका सालाना टीडीएस TDS 50,000 रुपये या इससे ज्यादा होता है। इनकम टैक्स रिटर्न नहीं दाखिल करने वालों के लिए लागू दर से अधिक पर टैक्स डिडक्शन का प्रावधान है। न्यूनतम 5 प्रतिशत या संबंधित सेक्शन में दिए गए रेट्स का दोगुना में से जो भी अधिक हो वह रेट होगा।

 

लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए अब आपको आरटीओ जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऑनलाइन आवेदन करने के साथ ही घर से ही टेस्ट भी दिया जा सकेगा। टेस्ट में पास होने के बाद लर्निंग लाइसेंस आपके घर पहुंच जाएगा। हालांकि स्थाई लाइसेंस के लिए ट्रैक पर वाहन चलाकर दिखाना होगा। नई व्यवस्था जुलाई से कई राज्यों में लागू हो रही है।

4. नया आईएफएससी कोड करना होगा इस्तेमाल

सिंडिकेट बैंक का केनरा बैंक में विलय हो चुका है इसलिए अब 1 जुलाई से बैंक के आईएफएससी कोड बदलने जा रहा है। ऐसे में सिंडिकेट बैंक की ब्रांच मौजूदा आईएफसी कोड 30 जून 2021 तक ही काम करेंगे। इसके साथ ही आईडीबीआई बैंक 1 जुलाई से चेक लीफ चार्ज, सेविंग अकाउंट चार्ज और लॉकर चार्ज में बदलाव करने जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-  Friendship Day 2021 Date: भारत में इस साल कब मनाया जाएगा फ्रेंडशिप डे?

5. रसोई गैस कीमतों में हो सकता है बदलाव

हर महीने की पहली तारीख को केंद्र सरकार एलपीजी सिलेंडर की कीमत की घोषणा करती है। पिछले महीने सरकार ने 19 किलो वाले कमर्शियल सिलेंडर के दाम में 122 रुपए कटौती की गई थी। इस बार भी 1 जुलाई से गैसे की कीमतों में बदलाव की पूरी संभावना है क्योंकि कच्चे तेल के दाम में तेजी जारी है।

6. छोटी बचत पर ब्याज में कटौती संभव

 

छोटी बचत योजनाओं जैसे पीपीएफ, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स या फिर सुकन्या समृद्धि में निवेश किया है तो सरकार ब्याज दर में कटौती कर सकती है। माना जा रहा है कि छोटी बचत योजनाओं पर बैंकों के मुकाबले अधिक ब्याज से समस्या पैदा हो रही है। हालांकि, सरकार की तरफ अभी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है।

इसे भी पढ़ें-  Mixed Vaccine Permission: मिश्रित टीका: जल्द ही एक व्यक्ति ले सकेगा दो अलग-अलग वैक्सीन की खुराक, केंद्र ने परीक्षण को दी मंजूरी

7. नग की यूनिक पहचान होगी अनिवार्य

 

गहने चोरी हो जाएं या गुम इनके वास्तविक मालिक की पहचान आसानी से हो सकेगी। दरअसल, जिस तरह देश के सभी नागरिकों की पहचान आधार कार्ड में यूआईडी के जरिए की गई है, ठीक उसी तरह सरकार 1 जुलाई से ज्वेलरी के हर नग की विशिष्ट पहचान (यूआईडी) अनिवार्य बनाने जा रही है।

8. गाड़ियों के दाम में बढ़ोतरी

स्टील, प्लास्टिक और एलुमिनियम के दामों में आए उछाल को देखते हुए वाहन कंपनियां गाड़ियों के दाम अगले महीने से बढ़ाने जा रही है। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति भी अपनी गाड़ियों के दाम बढ़ाने का ऐलान कर चुकी है। अब दोपहिया कंपनी हीरो मोटरकॉर्प भी अपनी दोपहिया के दाम में 1 जुलाई से बढ़ोतरी का फैसला किया है। इस साल यह कंपनी की ओर से तीसरी बढ़ोतरी होगी।

 

 

Advertisements