Diet For Typhoid: टाइफाइड में किन फूड्स को करें डाइट में शामिल, और किन से करें परहेज़ जानिए

Advertisements

नई दिल्ली। टाइफाइड जीवाणु संक्रमण के कारण पनपने वाली बीमारी है, जो सीधे आंत को प्रभावित करती है। यह बीमारी गंदे फूड, दूषित पानी और गंदी चीज़े खाने-पीने के कारण पनपती है। इस बीमारी के शुरूआती लक्षण है पसीना आना, ठंड लगना, सिरदर्द, शरीर में दर्द, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या होना, साथ ही सूखी खांसी होना शामिल है। इस बीमारी में अगर खान-पान का ठीक इस्तेमाल नहीं किया जाए तो परेशानी बढ़ सकती है। इस बीमारी को कंट्रोल करना हैं तो डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करें जो टाइफाइड का उपचार कर सकें। आइए जानते हैं कि टाइफाइट से निजात पाने के लिए डाइट में किन फूड्स को शामिल करें और किन फूड्स से परहेज़ करें।

इसे भी पढ़ें-  NASA discovered planet: NASA ने खोजा अजीब ग्रह, यहां सिर्फ 16 घंटे का होता है एक साल, जानिए कितनी दूर है ये प्लेनेट

टाइफाइड में खाने चाहिए ये फूड्स:

टाइफाइड को जल्द ही ठीक करना चाहते हैं तो फलों में केला, चीकू, पपीता, सेब, मौसमी, संतरे का सेवन करें।
खाने में दाल, खिचड़ी, हरी सब्जियां पालक, पत्तागोभी, फूलगोभी, गाजर और पपीता खाएं।
इस बीमारी में दही खाना बेहद फायदेमंद है। खांसी, जुकाम और जोड़ों के दर्द वाले लोग दही का सेवन नहीं करें।
दूध बॉडी को एनर्जी दे सकता है इसलिए उसका सेवन करें।

इस बीमारी में शहद बेहद उपयोगी है। एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद डालकर उसका सेवन करें। यह पाचन-तंत्र को बेहतर करने में मदद करता है।
टाइफाइड की वजह से बुखार रहता है तो लिक्विड चीज़ों का सेवन करें। लिक्विड चीज़ों में फलों का जूस बेस्ट है।
टाइफाइड में पुदीने का सेवन बेहद उपयोगी है। पुदीने की कुछ पत्तियों में नमक, हींग, अनारदाना डालकर इसका पेस्ट बनाकर खाने से फायदा मिलेगा।
टाइफाइट की वजह से होने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए किशमिश, मुनक्का, मूंग की पतली दाल, पतला दलिया, मक्खन, दूध, और दही का इस्तेमाल करें।
टाइफाइट में कुछ चीज़े बढ़ा सकती हैं मर्ज, इनसे करें परहेज़

इसे भी पढ़ें-  Exam Start New Pattern In MP: मध्य प्रदेश में बोर्ड के बदले पैटर्न पर शुरू हुई नौवीं से बारहवीं की छमाही परीक्षाएं

टाइफाइड में कैफीन युक्त चीजों का सेवन न करें ये पेट में गैस पैदा कर सकती हैं।
रिफाइंड और प्रोसेस फूड से परहेज़ करें।
घी, तेल, बेसन, मक्का, शक्करकंद, कटहल, भूरे चावल से परहेज़ करें।
लाल मिर्च, मिर्च का सॉस, सिरका, गर्म मसाला, खटाई से परहेज़ करें।
अंडे या गर्म चीजें बढ़ा सकती हैं परेशानी।
मीट, सॉस, अचार और मसालेदार चीजें भी डाइट से निकालें।

Advertisements