मां तुझे सलाम’ गाने की वजह से लॉक हुआ IT मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद का Twitter अकाउंट, जानें पूरा मामला

Advertisements

नए आईटी नियमों को लेकर भारत सरकार के साथ अपने बिगड़ते रिश्तों के बीच ट्विटर ने शुक्रवार को अमेरिकी कॉपीराइट कानून (डीएमसीए) के कथित उल्लंघन को लेकर सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद के अकाउंट को करीब एक घंटे तक बंद कर दिया।

हालांकि, ऐसा क्यों हुआ, इसकी असली वजह अब सामने आ गई है। म्यूजिक डायरेक्टर ए. आर रहमान का गाना ‘मां तुझे सलाम’ और सोनी म्यूजिक की वजह से रविशंकर प्रसाद का ट्विटर अकाउंट कुछ समय के लिए लॉक हुआ। किसी केंद्रीय मंत्री के खाते पर इस तरह से रोक लगाने का यह पहला मामला है।

डीएमसीए नोटिस की मानें तो ट्विटर ने रविशंकर प्रसाद के जिस ट्वीट पर एक्शन लिया है, वह ट्वीट 2017 का है। लुमेन डेटाबेस दस्तावेज के मुताबिक, डीएमसीए संबंधी नोटिस 24 मई, 2021 को भेजा गया और ट्विटर को 25 जून, 2021 को मिला।

इसे भी पढ़ें-  Tokyo Olympics 2020 Day-7 LIVE: भारतीय मेंस हॉकी टीम और पीवी सिंधु की शानदार जीत, बॉक्सर सतीश मेडल से एक पंच दूर

लुमेन डेटाबेस एक स्वतंत्र अनुसंधान परियोजना है, जिसके तहत ट्विटर द्वारा अपनी साइट पर रोक लगायी जानी वाली सामग्री सहित अन्य का अध्ययन किया जाता है।

सूत्रों की मानें तो रविशंकर प्रसाद के ट्विटर पर संबंधित पोस्ट में 1971 के युद्ध की विजय वर्षगांठ के मौके पर भारतीय सेना को श्रद्धांजलि देते हुए एक वीडियो डाला गया था। वीडियो के बैकग्राउंड में ए. आर रहमान का एक गाना ‘मां तुझे सलाम’ बज रहा था।

इस गाने का कॉपीराइट सोनी म्यूजिक के पास है। बताया जा रहा है कि सोनी म्यूजिक ने इस गाने पर कॉपी राइट का दावा किया और ट्विटर की नजर में इस पोस्ट को कथित रूप से कॉपीराइट नियमों का उल्लंघन माना गया है।

इसे भी पढ़ें-  Monkey In School: बंदरों की टोली पहुंची स्कूल, प्रिंसिपल की कुर्सी पर किया कब्जा, देखें Video

ट्विटर के एक्शन के बाद मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अमेरिकी सोशल नेटवर्किंग कंपनी के इस कदम की आलोचना करते हुए इसे मनमाना रवैया और आईटी नियमों का घोर उल्लंघन बताया। उन्होंने यह भी कहा कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने नये आईटी नियमों का उल्लंघन किया है जिसके तहत मध्यस्थ के लिए खाते तक पहुंच को रोकने से पहले उपयोगकर्ता को नोटिस देना जरूरी है। हालांकि, ट्विटर ने कहा कि उसने प्रसाद के खाते पर लगी रोक हटा ली है लेकिन उस ट्वीट को अपने पास रोक लिया जिसको लेकर रोक लगाई गई।

करीब एक घंटे बाद खाते पर लगी रोक हटा ली गयी लेकिन साथ ही चेतावनी दी गयी कि खाते के खिलाफ कोई अतिरिक्त नोटिस आने की स्थिति में उसे फिर से बंद किया जा सकता है या निलंबित किया जा सकता है। ट्विटर को आड़े हाथ लेते हुए प्रसाद ने एक अन्य घरेलू सोशल मीडिया मंच कू पर लिखा कि ट्विटर की “निरंकुश और मनमानी कार्रवाइयों” को लेकर उन्होंने जो टिप्पणियां कीं उससे माइक्रोब्लॉगिंग साइट की झल्लाहट साफ दि्ख रही है।

इसे भी पढ़ें-  योगी बैठ्या है, बक्कल तार दिया करे, किसान आंदोलन पर यूपी बीजेपी के ट्वीट से बवाल

 

 

 

Advertisements