Himachal Pradesh News: हिमाचल सीएम के सिक्‍योरिटी इंचार्ज ने कुल्‍लू के एसपी को मारी लात, हंगामा

Advertisements

कुल्लू । केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के स्वागत के लिए भुंतर पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा अधिकारी ने एसपी कुल्लू गौरव सिंह को लात मार दी है। बताया जा रहा है कि भुंतर हवाई अड्डे के बाहर सारा विवाद वाहनों के काफिलों को लेकर हुआ है। मुख्यमंत्री की गाड़ी नितिन गडकरी के काफिले के बाद 10 वें व सुरक्षा कर्मियों की गाड़ी 15वें स्थान पर थी। इस बात को लेकर मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी ने आपत्ति जताई थी। वहीं फोरलेन किसान संघ के सदस्यों ने भी सरकार के द्वारा किए जा रहे रवैये पर निराशा व्यक्त की है।

इसे भी पढ़ें-  Coronavirus Telangana: महात्मा ज्योतिबा फुले स्कूल की 43 छात्राएं कोरोना संक्रमित, मचा हड़कंप

जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के स्वागत के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भुंतर हवाई अड्डा पहुंचे थे। जैसे ही केंद्रीय मंत्री का काफिला भुंतर हवाई अड्डा से बाहर निकलने लगा तो सड़क के किनारे फोरलेन प्रभावित किसान भी मिलने के लिए पहुंचे थे। प्रभावित लोगों को देख नितिन गडकरी ने अपनी गाड़ी को रोका और खुद उतर कर उनसे मिलने पहुंच गए। वहीं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी अपने वाहन से उतरकर उन सभी लोगों से मिलने पहुंचे। इस दौरान प्रभावित लोगों ने प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर भी निराशा व्यक्त की तथा कहा कि उनकी मांगों पर लंबे समय से गौर नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें-  Charas : मुंह में चरस छुपाकर जेल में ले जाते 3 प्रहरी पकड़ में आए, तीनों निलंबित

इस पर केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री को निर्देश दिया कि जल्द से जल्द उनकी मांगों पर गौर किया जाए। तभी अचानक मुख्यमंत्री की गाड़ी की पिछली साइड सुरक्षाकर्मी व एसपी कुल्लू के बीच झड़प हो गई। इस झड़प को देखते हुए स्थानीय लोगों ने भी एसपी कुल्लू के पक्ष में नारेबाजी करनी शुरू कर दी तथा इस तरह से झड़प के बारे में अपना रोष भी व्यक्त किया। वीडियो में स्थानीय लोग जहां प्रदेश सरकार का विरोध करते हुए नजर आ रहे हैं तो वहीं एसपी कुल्लू की कार्यप्रणाली से खुश होकर उनके पक्ष में नारेबाजी भी कर रहे हैं। फोरलेन प्रभावित संघ के सदस्यों का कहना है कि सरकार लंबे समय से उनकी मांगों को अनसुना कर रही है जिसके चलते उन्हें आज केंद्रीय मंत्री से मिलने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

Advertisements