आयशा सुल्ताना पर BJP में खिंची तलवार! प्रदेश अध्यक्ष ने दर्ज कराया मुकदमा तो कई पार्टी नेताओं ने दे दिया इस्तीफा

Advertisements

फिल्ममेकर आयशा सुल्ताना पर केस दर्ज कराने को लेकर अब भाजपा नेताओं के बीच आपस में ही तलवार खींच गई है। सबसे पहले आपको बता दें कि हाल ही में लक्षद्वीप इकाई के भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अब्दुल खादर ने फिल्ममेकर के खिलाफ कवरत्ती पुलिस स्टेशन में शिकायत करते हुए धारा 124 A (राजद्रोह) और 153 B (हेट स्पीच) के तहत केस दर्ज कराया था। लेकिन आयशा सुल्ताना पर केस दर्ज कराए जाने के बाद कई बीजेपी नेता नाराज हो गए हैं।

न्यूज एजेंसी ‘ANI’ के मुताबिक लक्षद्वीप के 15 बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने आयशा सुल्ताना पर केस दर्ज कराए जाने के खिलाफ अपना इस्तीफा दे दिया है। भाजपा के राज्य सचिव अब्दुल हामिद ने कहा है कि ‘आपने चेतलाथ की बहन के खिलाफ झूठी और अनुचित शिकायत दर्ज की है। हम इसपर कड़ी आपत्ति जताते हैं और अपना अपना इस्तीफा देते हैं।’

इसे भी पढ़ें-  Tokyo Olympics Day-8 LIVE: लवलीना का पदक पक्का, दीपिका का सपना टूटा, सिंधु ने पहला सेट जीता

पार्टी के 12 नेताओं और कार्यकर्ताओं के हस्ताक्षर वाला एक ख़त अब्दुल खादर हाजी को भेजा गया है। इस पत्र में कहा गया है कि ‘लक्षद्वीप में भाजपा इस बात से पूरी तरह वाकिफ है कि कैसे वर्तमान प्रशासक पटेल की हरकतें जनविरोधी, लोकतंत्र विरोधी हैं और लोग इससे खासे परेशान हैं।’

इन नेताओं ने आयशा सुल्ताना का समर्थन करते हुए लिखा है कि ‘दूसरों की तरह आयशा ने भी मीडिया में अपनी राय साझा की। पुलिस में आपकी शिकायत के आधार पर आयशा सुल्ताना के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आपने चेतलाथ की बहन के खिलाफ झूठी और अनुचित शिकायत दर्ज की है, और उसके परिवार और उसके भविष्य को बर्बाद कर दिया है।’

इसे भी पढ़ें-  मोबाइल टावर पर चढ़ा युवक! समोसे-जलेबी मिलने के बाद उतरा नीचे, Video Viral - MP

आपको बता दें कि अब्दुल खादर ने आयशा सुल्तान पर आरोप लगाया था कि उन्होंने मलयालम चैनल पर बहस के दौरान केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना को लेकर झूठी खबर का प्रसार किया था। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार ने लक्षद्वीप में कोरोना के प्रसार के लिए जैविक हथियारों का इस्तेमाल किया।

Advertisements