अजब जगब: फ्रेंडशिप.. लिवइन और फिर ब्रेकअप के बाद थाने में निकाह

Advertisements

सोशल साइट फेसबुक पर कानपुर की एक युवती की गुलावठी क्षेत्र के युवक से दोस्ती हो गई। बातों-बातों में दोस्ती प्यार में बदल गई। युवक उसे कानपुर से भगाकर दिल्ली ले गया, जहां दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे।

बाद में आरोपी युवक ने युवती के गर्भवती होने पर उसे गर्भपात कराकर छोड़ दिया। एसएसपी ने शिकायत मिलने पर युवक-युवती को महिला थाना बुलाया। यहां दोनों पक्षों की सहमति से उनका निकाह भी करा दिया गया।

पुलिसकर्मियों ने नवदंपति को आशीर्वाद देकर विदा किया। इस मामले में राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के मेरठ प्रांत संयोजक कदीम आलम एडवोकेट ने पीड़िता का साथ देते हुए निकाह की पहल कराई।

इसे भी पढ़ें-  अब एक और सरकारी बैंक ने सस्‍ता किया Home Loan, त्‍योहारी सीजन का तोहफा

कानपुर के थाना सिकंदरा की रहने वाली युवती के अनुसार करीब पांच साल पहले फेसबुक पर उसकी दोस्ती गुलावठी के युवक से हुई थी। दोनों लगातार बातचीत करने लगे और एक-दूसरे को प्यार करने लगे। फोन पर ही दोनों ने साथ में जीने-मरने की कसम भी खा लीं। पीड़िता के अनुसार युवक उसे कानपुर से भगाकर दिल्ली ले गया।

वह अपने घर से दो लाख रुपये की नगदी और काफी जेवरात लेकर गई थी। दिल्ली में एक कमरे में दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे। आरोप है कि उसके रुपये और जेवरात ले लिए गए। युवती के गर्भवती होने पर उसे मारपीट कर जबरन गर्भपात की दवा खिला दी गई। इससे युवती का गर्भपात हो गया। इसके बाद युवक उसे छोड़कर भाग निकला।

इसे भी पढ़ें-  LIVE Punjab Congress News : कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्‍तीफा, मीडिया से कहा मैंने अपमानित महसूस किया

26 मई को युवती किसी तरह दिल्ली से गुलावठी पहुंच गई। गुलावठी में युवक ने परिवार के लोगों ने उसके साथ मारपीट की और घर में घुसने नहीं दिया। इसके बाद पीड़िता ने थाना गुलावठी पहुंचकर शिकायत की। वहां से कोई कार्रवाई न होने पर उसने एसएसपी से मिलकर अपनी पीड़ा सुनाई। एसएसपी ने मामला महिला थाना पुलिस को सौंप दिया।

एसएसपी के आदेश पर मामले की जांच में युवती के आरोपी युवक पर लगाए गए आरोप सही पाए गए। महिला थाना में दोनों पक्षों की सहमति पर निकाह हुआ है।
-लक्ष्मी सिंह, प्रभारी, महिला थाना

Advertisements