India Pakistan Border: बड़ी साजिश की फिराक में पाक, नियंत्रण रेखा से सटे गांव खाली करा रहा

Advertisements

पुंछ: पाकिस्तान भारत के खिलाफ फिर किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में है। वह पुंछ जिले की सीमा के उस पार बड़ी संख्या में हथियार व सेना के अतिरिक्त जवानों को तैनात कर रहा है।
वहां के गांवों को खाली कराया जा रहा है। पाकिस्तानी सैनिक की हरकत उनके नापाक इरादे की ओर संकेत कर रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुंछ जिले के खड़ी करमाड़ा और देगवार सेक्टर के उस पार पाकिस्तानी इलाके के तोली पीर में कई दिन से पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से काफी हलचल देखी जा रही है।

वह नियंत्रण रेखा के नजदीक सेना का जमावड़ा और आधुनिक हथियार इकट्ठे कर रहा है। इस काम में हेलीकाप्टर और बुलेटप्रूफ गाड़ियों की सहायता ली जा रही है।

इसे भी पढ़ें-  Indian Overseas bank और Central bank of India का होगा निजीकरण, 51% हिस्सेदारी बेचेगी सरकार

वहीं, तोली पीर इलाके के नजदीकी गांव से गांववासियों को जबरन निकाल कर गांव को खाली करवाया गया है। गांववासियों को तहसील बाग में भेज दिया गया है। तोली पीर इलाके में पाकिस्तानी सैनिक हरकत में हैं।

जानकारी के अनुसार हाल के दिनों में स्थानीय लोगों को बताया गया था कि पाकिस्तानी सेना और अन्य किसी मित्र देश की सेना का साझा युद्धाभ्यास होगा, लेकिन कुछ दिनों के बाद इलाके को सैन्य छावनी में बदल दिया गया और लोगों को इलाका खाली करने के आदेश जारी कर दिए गए।

जो लोग वहां से नहीं निकले, उन्हें जबरन निकाल कर तहसील बाग में भेज दिया गया। जब तक नए आदेश नहीं जारी होते, तब तक लोगों को तोली पीर इलाके में जाने की इजाजत नहीं है।

इसे भी पढ़ें-  छात्र नेता ने मांग भर कर रेप किया, पिता बोला: 10-12 लाख लेकर मामला सेटल कर लो

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सैनिकों के साथ चीन की सेना भी तैनात है, जो किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में है। सीमा पर बढ़ती हलचल को देखकर भारतीय सेना के जवानों ने भी चौकसी पहले से अधिक बढ़ा दी है।

आपको जानकारी हो कि इसी साल 25 फरवरी को भारत और पाकिस्तान के बीच डीजीएमओ स्तर पर बातचीत हुई थी, जिसमें संघर्ष विराम पर हुए समझौते पर अमल करने की सहमति बनी थी। तब से अब तक एलओसी पर खामोशी है।

हालांकि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दो बार फार्यंरग हो चुकी है। अब पाकिस्तान की संदिग्ध हरकत से आशंका है कि एलओसी पर फिर तनाव बढ़ सकता है।

Advertisements