Honey Trap : हनीट्रैप में फंसे पुलिस अफसर: गिरोह को पकड़ने के लिए की थी कॉल, खुद हो गए शिकार

Advertisements

कासगंज जिले में तैनात एक पुलिस अधिकारी को हनीट्रैप गैंग के सदस्यों ने शिकार बनाने की कोशिश की। पहले तो उन्हें वीडियो कॉल के माध्यम से अश्लील हरकत के लिए प्रेरित किया। बाद में वॉयस कॉल के माध्यम से 30 हजार रुपये मांगे गए। उनका वीडियो यू-ट्यूब और सोशल मीडिया पर वायरल करने का खौफ दिखाया गया। अधिकारी की तहरीर पर मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस अधिकारी ने पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि दो महीने से उनके पास कुछ लोगों की शिकायतें आईं थीं। इनमें हनीट्रैप गैंग ने कुछ लोगों से मोबाइल फोन पर वीडियो चैटिंग कर शा रीरिक संबंध बनाने का लालच देकर ब्लैकमेलिंग की थी। इन मामलों की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस अधिकारी ने उक्त मोबाइल नंबरों पर कॉल की। 

इसे भी पढ़ें-  Himachal Pradesh News: हिमाचल सीएम के सिक्‍योरिटी इंचार्ज ने कुल्‍लू के एसपी को मारी लात, हंगामा

अपराधियों ने युवती की आवाज में की बात
पुलिस अधिकारी ने जिन मोबाइल नंबरों पर कॉल की, उन पर युवती की आवाज आई। उसने गंदी-गंदी बातें करते हुए अश्लील हरकत करने के लिए प्रेरित किया, लेकिन पुलिस अधिकारी ने किसी भी हरकत का कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद पुलिस अधिकारी के पास दो मोबाइल नंबरों से पास कॉल आईं, जिसमें उनसे 30 हजार रुपये मांगे गए। 

फोन करने वाले ने बताया कि आपका वीडियो बना लिया गया है। यदि पैसा नहीं दिया जाएगा तो वीडियो यूट्यूब सहित अन्य सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जाएगा। तहकीकात में हुए इस घटनाक्रम को लेकर पुलिस अधिकारी ने सदर कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कराया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। अब पूरे मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। यह मामला आईटी एक्ट और भारतीय दंड संहिता की धाराओं में दर्ज किया गया है।

Advertisements