DDCA ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अरुण जेटली क्रिकेट स्टेडियम के उपयोग का दिया प्रस्ताव

Advertisements

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ(डीडीसीए) ने कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण से निपटने में योगदान देते हुए अरूण जेटली क्रिकेट स्टेडियम(फिरोजशाह कोटला मैदान) का इस्तेमाल टीकाकरण औरक्वारंटाइन  केन्द्र के तौर पर करने का प्रस्ताव दिल्ली सरकार को दिया है।

डीडीसीए अध्यक्ष रोहन जेटली ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि उन्होंने सरकार को टीकाकरण केन्द्र के तौर पर इसके इस्तेमाल का प्रस्ताव दिया है और उनके कार्यालय को इसका जवाब भी मिला है।

जेटली ने शनिवार को पीटीआई से कहा, ‘मैंने उन्हें लिखा था कि अगर उन्हें लगता है कि टीकाकरण के लिए एक केंद्र की आवश्यकता है, तो स्थिति सामान्य होने तक वे डीडीसीए परिसर का उपयोग कर सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘स्टेडियम परिसर में हमारे पास ऐसी सुविधा है, जहां प्रतिदिन 10,000 लोगों को टीका लगाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें-  Raipur Blast: रायपुर रेलवे स्टेशन में ब्लॉस्ट, CRPF के 6 जवान घायल

वे चाहें तो सामान्य स्थिति में क्रिकेट गतिविधियों के फिर से शुरू होने तक इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।’ उन्होंने बताया कि उन्हें इसका जवाब भी मिला है कि मुख्य सचिव इस मामले को देखेंगे।

डीडीसीए पहले ही दिल्ली सरकार को 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और गैर-इनवेसिव वेंटिलेटर (कृत्रिम सांस में मदद करने वाला यंत्र) दान करने की घोषणा कर चुका है। इससे पहले डीडीसीए की कोषाध्यक्ष शशि खन्ना ने टीकाकरण और क्वारंटाइन केन्द्र के तौर पर इसके इस्तेमाल का प्रस्ताव देते हुए कहा था, ‘इस स्टेडियम में सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ बहुत बडी पार्किंग उपलब्ध है और यह दिल्ली की बड़ी आबादी की पहुंच में भी है। स्टेडियम को अगर टीकाकरण या क्वारंटाइन केन्द्र के रूप में उपयोग में लाया जाता है तो काफी संख्या में दिल्ली के लोगों को सुविधा होगी।’

Advertisements