शिवराज का खुला आरोप; महाराष्ट्र, गुजरात व हरियाणा में रोक रहे मध्य प्रदेश के आक्सीजन टैंकर

Advertisements

भोपाल । मध्य प्रदेश को आक्सीजन की आपूर्ति में महाराष्ट्र, गुजरात और हरियाणा के अधिकारी बाधा बन रहे हैं। वे मध्य प्रदेश के लिए आने वाले आक्सीजन के टैंकरों को अपने राज्यों में रोक रहे हैं। इससे मध्य प्रदेश में आक्सीजन की उपलब्धता पर असर पड़ रहा है। अन्य राज्यों के अधिकारियों की इस हरकत पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है। मुख्यमंत्री ने तीन ट्वीट कर आक्सीजन टैंकरों को रोकने को अपराध बताते हुए कार्रवाई की मांग की है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट में लिखा है कि संक्रमण की विषम परिस्थितियां बनी हुई हैं, संकटकाल है। आक्सीजन संजीवनी है। ऐसे में कुछ राज्यों के अधिकारी आक्सीजन के टैंकर रोक रहे हैं, जो अनुचित है और अपराध भी है।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: 647 सेम्पल की रिपोर्ट में 58 नए पॉजिटिव केस

रविवार को मध्य प्रदेश के आक्सीजन टैंकरों को अन्य राज्यों में कुछ अधिकारियों द्वारा रोका गया था। इससे समय बर्बाद होता है और इस दौरान कुछ मरीजों की जान जाने का खतरा बना रहता है। मैं इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से अपील करता हूं कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें, जो ऑक्सीजन के टैंकरों को अकारण रोक रहे हैं। जानकारी के अनुसार, राजस्थान में धौलपुर के पास मध्य प्रदेश के लिए आ रहा ऑक्सीजन टैंकर रोका गया था। इस पर शिवराज सिंह ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात की।

इसके बाद टैंकर धौलपुर से रवाना किया गया। इसी तरह गुजरात में सूरत कलेक्टर ने तो हरियाणा में रेवाड़ी के पास टैंकर रोके गए थे। यहां भी दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से शिवराज ने बात की। तब आक्सीजन टैंकर मध्य प्रदेश की ओर रवाना हो सके।

Advertisements