सागर में कोरोना संक्रमण को लेकर राहत, नए संक्रमितों की संख्या में गिरावट, 44 ठीक हो कर घर पहुंचे, 186 नए मरीज मिले

Advertisements

आशीष शुक्ला

  • सागर विधायक शैलेंद्र जैन ने पीपीई किट पहन कर जाना मरीजों का हाल, 481 इंजेक्शन और मिले

सागर यश भारत/ जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर अब राहत की खबरें आने लगी है। आम जनता में सुरक्षा को लेकर बढ़ रही सतर्कता और कोरोना कर्फ्यू के द्वारा प्रशासनिक कसावट से जिले में नए संक्रमितों की संख्या का ग्राफ 2 दिन से लगातार गिर रहा है।

वही बड़ी संख्या में मरीज ठीक होकर अपने घरों को भी लौट रहे हैं।

इसी बीच सागर विधायक शैलेंद्र जैन ने पीपीई किट पहनकर मेडिकल कॉलेज के मरीजों का हाल जाना वही सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 481 इंजेक्शन और भेजे हैं।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

आज आई रिपोर्ट में 44 मरीज ठीक होकर घर पहुंचे हैं वहीं 186 नए संक्रमित भी मिले हैं। दो लोगों की इलाज के दौरान मृत्यु हुई है। सागर जिले में पिछले 10 दिन से कोरोना संक्रमितों के मिलने का जो आंकड़ा लगातार बढ़ रहा था उसमें 2 दिन से गिरावट भी शुरू हो गई है।कल शनिवार को 172 नए मरीज मिलने से संख्या में गिरावट का रुख शुरू हुआ था।

यश भारत के संभागीय ब्यूरो को सागर जिले के कलेक्टर दीपक सिंह ने बताया कि जिले में रेमदेसीविर इंजेक्शन की मांग को देखते हुए सरकार ने चार्टर प्लेन के द्वारा 481 इंजेक्शन और भेजे हैं। इससे इलाज करा रहे मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: 526 सेम्पल की रिपोर्ट में 81 नए पॉजिटिव केस

वहीं दूसरी तरफ दोपहर में सागर विधायक शैलेंद्र जैन ने पीपीई किट पहनकर बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के आईसीसीयू वार्ड में भर्ती मरीजों से सीधे ही मुलाकात की और उनके इलाज का हाल जाना। उन्होंने मरीजों के परिजनों से भी मुलाकात कर इलाज और सुविधाओं को लेकर फीडबैक लिया।

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की प्रबंध समिति के अध्यक्ष और सागर संभाग के कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला व डीन डॉ आरके वर्मा अपनी टीम और उपलब्ध संसाधनों के द्वारा संक्रमित मरीजों का इलाज करने में पूरी ताकत से जुटे हुए हैं। लेकिन यहां की क्षमता से अधिक दबाव और सीमित संसाधनों के चलते मरीजों के परिजनों में असंतोष और आक्रोश भी देखा जा रहा है। जिसे रोकने के लिए सरकार व जनप्रतिनिधियों को और अधिक व्यवस्थाएं मुहैया कराने के प्रयास करना चाहिए।

Advertisements