सागर में हरदिन बढ़ रहा है कोरोना का कहर : आज फिर मिले 324 पॉजिटिव, स्थिति हो रही है बेकाबू, मौतों का आंकड़ा भी बढ़ा

Advertisements

आशीष शुक्ला

  • डिस्चार्ज होने वाले मरीजों को घर भेजने व्यवस्था प्रशासन ने की बंद, साधनों के अभाव में परेशान हो रही है मरीज
  • सागर संभाग में कोरोना संक्रमण की स्थिति हुई भयावह : एक ही दिन में मिले 1047 पॉजिटिव मरीज

सागर यश भारत/ जिले में कोरोना संक्रमण का कहर अब बेकाबू होता जा रहा है। आज आई रिपोर्ट में 324 नए पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद नई चुनौती खड़ी हो गई है। सरकार और प्रशासन के तमाम इंतजामों के बावजूद पॉजिटिव मरीजों के मिलने की संख्या में हर दिन इजाफा हो रहा है। इन स्थितियों के चलते सरकार और प्रशासन की व्यवस्थाएं भी अब बोनी होती जा रही है।

इसे भी पढ़ें-  MP Board 10th Exam Result 2021: एमपी बोर्ड 10वीं को लेकर बड़ी खबर, मूल्यांकन के लिए तलाश रहे विकल्प

जिले में कोरोना संक्रमण की बढ़ती स्थिति को देखते हुए संभाग के कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला और जिला कलेक्टर दीपक कुमार सिंह स्थितियों पर लगातार नजर रखे हुए हैं। कमिश्नर मुकेश शुक्ला जहां बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं वही कलेक्टर दीपक कुमार सिंह जिले के सभी अस्पतालों में जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने में जुटे हुए हैं।
बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में संक्रमण के इलाज के लिए भर्ती मरीजों को डिस्चार्ज के बाद लावारिस सी स्थिति में छोड़ा जा रहा है। इसके पहले जिला प्रशासन द्वारा डिस्चार्ज होने वाले हर मरीज को उनके घर तक भेजा जा रहा था। करोना कर्फ्यू तथा संक्रमित मरीजों के घर सील होने के चलते अब डिस्चार्ज होने वाले मरीज साधनों के अभाव में परेशान हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-  जमानत के लिए अनोखी सजा: सरकारी स्कूल में स्कूल का शौचालय साफ करेगा दहेज प्रताडऩा का आरोपी

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब के इंचार्ज डॉ सुमित रावत द्वारा यश भारत को दी गई जानकारी में बताया गया कि आज आई रिपोर्ट में जहां 324 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है वही 25 मरीजों को ठीक होने के बाद बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के अस्पताल से डिस्चार्ज भी किया गया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इलाज के दौरान एक व्यक्ति की मौत हुई है जबकि यश भारत को मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में एक दर्जन से ज्यादा मौतें हो चुकी है।

सागर संभाग के अन्य जिलों की बात करें तो पूरे संभाग में संक्रमण की स्थितियां भयावह होती जा रही है। संभाग के छतरपुर जिले में 250 पन्ना में 195 टीकमगढ़ में 143 दमोह में 82 और सबसे छोटे जिले निवाड़ी में 53 पॉजिटिव मरीज एक ही दिन में मिले हैं।

Advertisements