महाराष्ट्र में अभी पूर्ण लॉकडाउन नहीं, ब्रेक द चेन’ मुहिम शुरू- उद्धव

Advertisements

महाराष्ट्र में बेकाबू कोरोना की रफ्तार के बीच राज्य की उद्धव ठाकरे जनता को संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कल रात 8 बजे से ‘ब्रेक द चेन’ मुहिम को शुरू किया जाएगा. राज्य में 15 दिनों तक कर्फ्यू लगा रहेगा. उद्धव ने राज्य के लोगों से अपील करते हुए कहा कि जरूरी काम नहीं हो तो घर के ना निकलें. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में अभी पूर्ण लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा. इसके साथ ही, बस, ट्रांसपोर्ट और लोकल को बंद नहीं किया जा रहा है. लेकिन वो सारी चीजें सिर्फ आवश्यक सेवाओं के लिए जारी रहेंगी.

 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को जनता को संबोधित करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना डरवाने वाले हैं.

उन्होंने कहा कि मुंबई में अब तक 970 बिल्डिंग को सील किया गया है. उद्धव ने आगे कहा कि बीच में ऐसा लगा कि कोरोना के खिलाफ जंग को हम जीत गए. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में मामला बेहद डराने वाला है.

 

उन्होंने कहा कि कोरोना से जंग में वैक्सीन की प्रक्रिया को तेज करनी होगी. उन्होंंने प्रधानमंत्री से उद्योगों को मदद करने की अपील की. इसके साथ ही, उन्होंने विमानों से ऑक्सीजन के सप्लाई की भी मांग की. मुख्यमंत्री ने कहा कि कल रात 8 बजे से कोरोना के नए नियम लागू होंगे.

इसे भी पढ़ें-  Transfer in Madhya Pradesh: उपचुनाव के बाद दमोह कलेक्टर तरुण राठी और एसपी चौहान को हटाया

 

वैक्सीनेशन को कमजोर होगी लहर

 

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि वैक्सीनेशन से कोरोना की दूसरी लहर कमजोर होगी. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में भयंकर तरीके से कोरोना के मामले बढ़े हैं. उन्होंने पीएम मोदी से और ऑक्सीजन देने का अनुरोध करते हुए कहा कि कोरोना के हालात पर अभी कुछ भी नहीं कह सकते हैं.

 

महाराष्ट्र सीएम ने कहा कि सारे सियासी दल कोरोना के खिलाफ जंग में एक साथ आएं. उन्होंने कहा कि नए डॉक्टर कोरोना की मुहिम में आगे आएं और हमारे साथ आकर जुड़ें. उन्होंने कहा कि टीकाकरण को बढ़ाना ही होगी. इसके साथ ही उद्धव ने कहा कि फिलहाल अस्पताल में कोरोना के बेड्स बढ़ा और अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाई गई हैं.

 

क्या-क्या खुला रहेगा?

 

महाराष्ट्र में लोकल और बस बंद नहीं होगी

 

बैंकों में काम-काज जारी रहेगा

 

ट्रांसपोर्ट पर नहीं होगी रोक

 

ई कॉमर्स सेवा और पेट्रोल पंप खुले रहेंगे

 

रेस्टोरेंट से सिर्फ खाना मंगाया जा सकेगा

 

इससे पहले, रविवार की शाम को उद्धव ठाकरे ने कोविड टास्क फोर्स के साथ बैठक की थी. इस बैठक के दौरान कोविड टास्क फोर्स की तरफ से 2 हफ्ते के कड़े लॉकडाउन की सिफारिश की गई थी. इससे पहले आज महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख ने कहा कि सरकार कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कुछ नयी पाबंदी के बारे में दिशा-निर्देश जारी करेगी.

इसे भी पढ़ें-  गेमचेंजर 2-डीजी दवा: संक्रमित मरीज में वायरस का दम घोंट देगी, ऑक्सीजन पर निर्भरता भी घटाएगी

 

मुंबई के प्रभारी मंत्री शेख ने कहा, ”महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कोविड-19 कार्यबल के सदस्यों से बात कर चुके हैं. उन्होंने विपक्षी दलों के नेताओं और उद्योगों के प्रतिनिधियों के साथ भी चर्चा की है. हमने सप्ताहांत लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू और अन्य उपायों को आजमा लिया है.” उन्होंने कहा, ”कोरोना वायरस की कड़ी को तोड़ने के लिए हम आज नया दिशा-निर्देश लागू करेंगे. (मंगलवार की) घोषणा में समूचे राज्य के लिए मानक संचालन प्रक्रिया तय की जाएगी.” मुंबई में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 7898 नए मामले आए हैं जबकि 26 लोगों की इस महामारी के चलते मौत हुई है.

 

रविववार को कोरोना के रिकॉर्ड नए मामले

 

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण पूरी तरह से बेकाबू हो चुका है. सोमवार को यहां पर 51,751 नए कोरोना के मामले आए. जबकि, उससे एक दिन पहले रविवार को रिकॉर्ड 63, 294 नए मामले सामने आए जबकि 349 लोगों की मौत हुई.

 

इससे पहले, महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिया कि राज्य सरकार संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 12 अप्रैल से 15 दिनों का लॉकडाउन लगा सकती है. सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी के तीनों दलों और भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधियों की एक बैठक में उन्होंने इस संबंध में राज्य सरकार के लिए जाने वाले किसी भी निर्णय के लिए सभी दलों से सहयोग मांगा. पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस सहित उपस्थित सभी लोगों ने उन्हें समर्थन का आश्वासन दिया.

इसे भी पढ़ें-  कोविड संक्रमित के शव को दफनाने के लिए जुटे 150 लोग, गांव में अब तक 21 लोगों की मौत

 

कोविड-19 के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने इस महीने राज्य बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाएं टालने का सोमवार को फैसला किया. राज्य में 12 वीं बोर्ड की परीक्षा 23 अप्रैल से और 10 वीं कक्षा की परीक्षा 30 अप्रैल से शुरू होने वाली थी. राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ट्वीट किया, ”महाराष्ट्र में कोविड-19 के मौजूदा हालात के मद्देनजर हमने 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं को टालने का फैसला किया है. मौजूदा हालात परीक्षा आयोजित करने के अनुकूल नहीं हैं. आपका स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है.”

Advertisements