मंदिर में तोड़फोड़ करने से रोका तो दलित बुजुर्ग पर चढ़ाया ट्रैक्टर, फिर पीटकर मार डाला

Advertisements

मध्यप्रदेश के विदिशा में दो गुटों में जमीन को लेकर बहस इतनी तेज हो गई कि इसमें एक शख्स की जान चली गई। यह मामला कुरवाई थाना क्षेत्र में आने वाले पीकलोन गांव का है, रविवार को यहां दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया, जिसमें 65 साल के दलित हरप्रसाद की मौत हो गई।

अहिरवाद समाज की ओर से बनाए गए मंदिर में की तोड़-फोड़
बता दें कि इस गांव में अहिरवाद समाज ने एक मंदिर बनाया है और यही समाज इस मंदिर की देखरेख करता है। वहीं रविवार को मोहनसिंह दांगी अपने खेत के लिए ट्रैक्टर लेकर वहां पहुंचा, इसके बाद मोहनसिंह ने रास्ते के किनारे लगी मंदिर की फेंसिंग और सरकारी हैंडपंप को उखाड़ फेंका। 

इसे भी पढ़ें-  अब योग पर भी नेपाल ने किया दावा, पीएम केपी शर्मा ओली की बिगड़ी बोली- भारत में नहीं हुई थी शुरुआत

मोहनसिंह ने दलित हरप्रसाद पर चढ़ाया ट्रैक्टर
इलाके के टीआई विजेंद्र मार्सकोले ने जानकारी दी कि मंदिर वाली जगह सरकारी है। मोहनसिंह के हमले के बाद हरप्रसाद ने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन मोहन ने हरप्रसाद पर ही अपना ट्रैक्टर चढ़ा दिया और बाद में उनके साथ मारपीट की। इसके बाद हरप्रसाद के परिजनों ने हमला शुरू कर दिया। 

पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार
वहीं दोनों गुटों में मारपीट इतनी ज्यादा हो गई कि बुरी तरह जख्मी हरप्रसाद की बाद में मौत हो गई। इस घटना में छह लोग घायल हुए और पुलिस ने मोहन सिंह और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया है। 

Advertisements