ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए रोजाना इतनी मात्रा में सेवन करें स्पिरुलिना

Advertisements

स्पिरुलिना एक जलीय वनस्पति है जो तालाबों और झीलों में पाया जाता है। इसमें अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में प्रोटीन सबसे अधिक होता है। इस वजह से स्पिरुलिना को सुपरफूड भी कहा जाता है। चिकित्सा विज्ञान में स्पिरुलिना का इस्तेमाल कैंसर की दवा बनाने के लिए किया जाता है।
नई दिल्ली। पिछले कुछ दशकों में दुनियाभर में स्पिरुलिना बेहद पॉपुलर हुआ है। डॉक्टर्स हमेशा रोजाना डाइट में स्पिरुलिना शामिल करने की सलाह देते हैं। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। खासकर मोटापा और डायबिटीज के लिए यह दवा समान है। इसके सेवन से वेट और शुगर (वजन और शर्करा) दोनों कंट्रोल किया जा सकता है। कई शोध में स्पिरुलिना सुपरफूड का दर्जा दिया गया है। कैंसर के बढ़ते संक्रमण को रोकने में यह कारगर दवा साबित हो सकता है। हालांकि, लोगों में यह दुविधा बनी रहती है कि शुगर कंट्रोल करने के लिए कितनी मात्रा में स्पिरुलिना का सेवन करना चाहिए। अगर आप स्पिरुलिना से वाकिफ नहीं हैं, तो आइए इसके बारे में सब कुछ जानते हैं-

स्पिरुलिना क्या है

स्पिरुलिना एक जलीय वनस्पति है, जो तालाबों और झीलों में पाया जाता है। इसमें अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में प्रोटीन सबसे अधिक होता है। इस वजह से स्पिरुलिना को सुपरफूड भी कहा जाता है। खासकर चिकित्सा विज्ञान में स्पिरुलिना का इस्तेमाल कैंसर की दवा बनाने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से बढ़ते वजन और शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है।

पोषक तत्व की मात्रा

डाइट चार्ट की मानें तो एक चम्मच 7 ग्राम स्पिरुलिना पाउडर में प्रोटीन 4 ग्राम, विटामिन-बी1 (11 प्रतिशत), विटामिन-बी2 (15 प्रतिशत), विटामिन-बी3 (4 प्रतिशत), कॉपर (21 प्रतिशत) और आयरन (11 प्रतिशत) होता है। वहीं, 7 ग्राम स्पिरुलिना में 20 कैलोरी और 1.7 ग्राम सुपाच्य कार्ब्स होते हैं।

Advertisements