वेक्सीनेशन सेंटर के लिए हाईकोर्ट की परमीशन का इंतजार

Advertisements

कटनी।  जिला चिकित्सालय के वेक्सीनेशन सेंटर को पुराने न्यायालय भवन में शिफ्ट किए जाने के लिए हाईकोर्ट की परमीशन का इंतजार किया जा रहा है। हाईकोर्ट से अनुमति मिलते ही पुराने न्यायालय भवन में वेक्सीनेशन सेंटर को तत्काल शुरू कर दिया जाएगा, तब तक यहां साफ-सफाई और रंग-रोंगन का काम चल रहा है।

सूत्रों के मुताबिक पुराने न्यायालय भवन में वेक्सीनेशन सेंटर शुरू किए जाने के लिए जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा माननीय उच्च न्यायालय को पत्र लिखा गया है, जिसमे वेक्सीनेशन सेंटर के लिए अनुमति मांगी गई है, हालांकि अभी तक स्वास्थ्य विभाग  को हाईकोर्ट से कोई जबाव नहीं मिला है।

इसे भी पढ़ें-  J&k: देशद्रोहियों और पत्थरबाजों पर सरकार का बड़ा एक्शन, अब न सरकारी नौकरी मिलेगी, न विदेश जाने की मंजूरी

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि झिंझरी स्थित नए भवन न्यायालय शिफ्ट होने के बाद से पुराना न्यायालय भवन खाली पड़ा हुआ है। यह अभी भी माननीय हाईकोर्ट के पजेशन में है। जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा हाईकोर्ट से अनुमति मांगी गई है।

विदित हो कि जिले में कोरोना संक्रमण बढऩे के बाद जिला चिकित्सालय में बिस्तरों की कमी के चलते वेक्सीनेशन सेंटर को पुराने न्यायालय भवन में शिफ्ट करने की योजना तैयार की गई है और खाली वार्ड में कोविड वार्ड बनाकर कोरोना के मरीजों को भर्ती किया जाएगा।

इनका कहना है
जिले में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसके चलते जिला चिकित्सालय में बिस्तरों की कमी की समस्या आ रही है। इस समस्या से निपटने के लिए जिला चिकित्सालय में कोविड वार्ड बनाया जा रहा है। यही कारण है कि वेक्सीनेशन सेंटर को पुराने न्यायालय भवन में शिफ्ट किया जा रहा है और यहां कोविड वार्ड बनाया जाएगा। वेक्सीनेशन सेंटर को पुराने न्यायालय भवन में शिफ्ट करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा हाईकोर्ट को पत्र लिखा गया है। अनुमति का इंतजार किया जा रहा है।
डॉ. यशवंत वर्मा, सिविल सर्जन

Advertisements