CG Board Decision: 10वीं-12वीं सीजी बोर्ड की परीक्षा न दे पाने वाले परीक्षार्थी भी होंगे पास

Advertisements

रायपुर। CG Board Decision: छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा होने जा रही है। ऐसे में छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने मंगलवार को परीक्षार्थियों को बड़ी राहत दी है। इसके तहत जो परीक्षार्थी कोरोना संक्रमित होंगे या लाकडाउन अथवा कंटेनमेंट जोन में होने के कारण किसी विषय या सभी विषयों में अनुपस्थित रहने पर भी फेल नहीं होंगे।

ऐसे परीक्षार्थियों की अंकसूची में अनुपस्थित न लिखकर ‘सी’ लिखा जाएगा। उनको अंक नहीं दिए जाएंगे, लेकिन पास की श्रेणी में रखा जाएगा यानी उसे उत्तीर्ण माना जाएगा। बिना परीक्षा दिए ही पास किए गए विद्यार्थियों के लिए पूरक परीक्षा के साथ विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  बड़ी खबर: जबलपुर में आज फिर कोरोना का बड़ा विस्फोट, 552 नए संक्रमित के साथ बना रिकार्ड

इन परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर उनकी अंकसूची में ‘सी’ के स्थान पर प्राप्तांक अंकित कर पुनरीक्षित अंकसूची जारी की जाएगी। साथ ही उन्हें श्रेणी भी दी जाएगी। कोरोना के चलते विद्यार्थियों को यह विकल्प दिया गया है कि परीक्षा नहीं दे पाएंगे तो भी फेल नहीं होंगे।

गौरतलब है कि 10वीं की परीक्षा 15 अप्रैल से शुरू हो रही है, जो एक मई तक चलेगी। इसमें केवल एक दिन का ही अवकाश रहेगा। वहीं 12वीं की परीक्षा तीन से 24 मई तक होगी। 10वीं में इस बार चार लाख 62 हजार और 12वीं में दो लाख 83 हजार परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-  बड़ा हादसा : डंफर से कुचल कर स्कूटी सवार तीन युवतियों की दर्दनाक मौत

 

 

माशिमं के सचिव प्रोफेसर वीके गोयल ने बताया कि छात्रों के प्रवेश पत्र और केंद्राध्यक्ष और शिक्षकों का ड्यूटी पत्र उनके आने-जाने के लिए पास होगा। उन्हें लाकडाउन के दौरान भी नहीं रोका जाएगा

50 फीसद ही कक्षा में बैठेंगे परीक्षार्थी

परीक्षा कक्ष में शारीरिक दूरी के नियम का पालन कराने के लिए माशिमं क्षमता के अनुसार केवल 50 फीसद परीक्षार्थियों को ही बैठाने के लिए कहा है यानी 60 सीट वाले कक्षा में केवल 30 परीक्षार्थी ही परीक्षा दे पाएंगे।

Advertisements