विशाल तारे में होगा महाविस्‍फोट, चमक उठेगा आसमान, सदियों में आता है ऐसा अवसर

Advertisements

यदि आप अंतरिक्ष प्रेमी हैं तो यह खबर आपके काम की है। आपने अक्‍सर आसमान में एस्‍टेरॉयड या धूमकेतू के दिखाई देने की खबरें सुनी या पढ़ी होंगी लेकिन आने वाले दिनों में एक ऐसी खगोलीय घटना होने जा रही है जिसके बारे में जानकर आप दंग रह जाएंगे। यह बहुत दुर्लभ एवं रोमांचकारी अनुभव होगा। असल में एक विशाल तारे में महाविस्‍फोट की घटना होने जा रही है। इसकी चमक इतनी तेज होगी कि भरे दिन में भी आकाश चमकीला हो जाएगा और देखने वालों की आंखें चौंधिया जाएंगी। खगोल की भाषा में इसे सुपरनोवा इवेंट कहते हैं। यानी एक तारे की मृत्‍यु। जिस तारे में यह विराट विस्‍फोट होगा उसका नाम बेटेलजूज है। इस घटना को लेकर नासा समेत दुनिया के कई देशों की दूरबीनें इस पर नजर रखे हुई हैं। असल में सुपरनोवा की घटनाएं सदियों बाद हुआ करती हैं। इस दुर्लभ घटना को अपनी आंखों से देखने के लिए विज्ञानियों को बेसब्री से इंतजार है। तारों पर अध्ययन करने वाले एरीज के वरिष्ठ खगोल विज्ञानी डा. शशिभूषण पांडेय का मानना है कि बेटेलजूज का विस्फोट सुपरनोवा के कई रहस्यों से पर्दा उठाएगा। इस कारण यह विज्ञानियों के आकर्षण का केंद्र है। अभी इसकी चमक घट-बढ़ रही है। असल में यह मृत्यु की ओर अग्रसर है।

  • इसका कोर सिकुड़ता जा रहा है। यह अपनी आउटर लेयर खोता जा रहा है।

  • इसमें जब विस्फोट होगा तो यह सूर्य से एक अरब गुना अधिक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। तब इसकी चमक देखने लायक होगी।

  • यह विस्फोट कब होगा, इस बारे में सटीक पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता।

  • असल में कोई भी तारा हमसे जितनी दूर होगा उसकी रोशनी उतनी ही वर्ष बाद हम तक पहुंचेगी। यह भी संभव है कि इस तारे की मृत्यु हो चुकी हो।

  • बेटेलजूज रेड जाएंट स्टार है जो लाल रंग का दिखाई देता है।

  • कभी यह हमारे आसमान के दस सबसे अधिक चमकीले तारों में शामिल था। मगर अपनी चमक खोने के बाद इस श्रेणी से बाहर हो चुका है।

Advertisements

इसे भी पढ़ें-  रामनवमीं के दिन जबलपुर जिले में मिले 803 कोरोना पॉजिटिव, कटनी में 199, अन्य जिलों में इतने