कोरोना के चलते महाराष्ट्र में नई पाबंदियां, रेस्टोरेंट में खाना खाने पर रोक, वीकेंड पर लॉकडाउन में ऐसा ऐलान

Advertisements

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए उद्धव सरकार ने रविवार को कई बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने रेस्टोरेंट में खाने खाने पर रोक लगा दी है। सरकार ने कहा है कि रेस्टोरेंट खुले रहेंगे, लेकिन वहां खाना खाने पर रोक रहेगी और पार्सल की सुविधा की अनुमति मिलेगी। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने कहा है कि सरकारी ऑफिसों के कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे।

इसके अलावा सरकार ने वीकेंड पर लॉकडाउन का ऐलान भी कर दिया है। यह लॉकडाउन हर शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक रहेगा। सरकार ने कहा है कि राज्य में औद्योगिक इकाइयों और बाजारों पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। इसके अलावा सरकार ने ट्रेनों, बसों, टैक्सी और ऑटो में यात्रा पर रोक नहीं रहेगी। वहीं, सार्वजनिक परिवहन में यात्रियों की क्षमता को कम करके 50 प्रतिशत कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  बड़ी खबर: कटनी उपजेल में विचाराधीन बंदी ने फांसी लगाकर दी जान

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले अन्य राज्यों की तुलना में काफी ज्यादा सामने आ रहे हैं। राज्य में लगभग रोजाना ही पुराने कोरोना के रिकॉर्ड्स टूट रहे हैं। बीते दिन तकरीबन 50 हजार नए मामले सामने आने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज एक हाई लेबल मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में ही कई सारे फैसले लिए गए हैं।

उद्धव ठाकरे ने इससे पहले दो अप्रैल को जनता को संबोधित करते हुए लॉकडाउन लगाने की आशंका से इनकार नहीं किया था। उन्होंने कहा था कि लोग लापरवाह हो गए हैं, सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ को रोकने के लिए एक-दो दिन में और अधिक पाबंदियां लगाई जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा था कि यदि लॉकडाउन लगाने का फैसला होगा तो फिर आर्थिक स्थिति खराब होगी। हमें धैर्य के साथ कोरोना से लड़ना होगा। एकजुट होकर हमें कोरोना से युद्ध लड़ना होगा। हमने इसके लिए प्रयास किए भी हैं। राज्य में 500 स्थानों पर कोरोना टेस्ट की सुविधा दी गई है।

इसे भी पढ़ें-  School Reopen: मध्य प्रदेश में एक जुलाई से खुल सकते हैं स्कूल!

 

Advertisements