जून 2021 तक नहीं होगा रेल कर्मचारियों का तबादला, तीन महीने तक पद पर बने रहेंगे सभी कर्मचारी

Advertisements

Indian Railway News: भारतीय रेलवे ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच एक बड़ा फैसला लिया है। रेलवे बोर्ड ने अपने कर्मचारियों के ट्रांसफर पर रोक की अवधि की बढ़ा दी है। अब अगले तीन महीने तक कर्मचारी अपने पद पर बने रहेंगे। उसके बाद हालात की समीक्षा के बाद आगे कोई फैसला लिया जाएगा। रेलवे के इस फैसले से कर्मचारी संगठनों भी खुश हैं।

कोरोना संक्रमण के चलते लिया फैसला

बता दें पिछले साल मई में रेलवे बोर्ड ने कर्मचारियों के तबादले पर रोक लगाने का फैसला किया था। इसकी अवधि 31 मार्च को समाप्त हो रही थी, लेकिन कोविड 19 महामारी अभी भी बरकरार है। इस स्थिति को देखते हुए ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन और नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवेमैन ने रेलवे बोर्ड से ट्रांसफरों पर रोक की अवधि बढ़ाने की मांग की थी। उनका कहना था कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है। कई राज्यों में पहले की तुलना में ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। इस स्थिति में कर्मचारियों का तबादला करना उचित नहीं है।

इसे भी पढ़ें-  MI की सीजन में पहली जीत: कोलकाता को पिछले 13 मैच में 12वीं बार हराया

चार साल एक पद पर रहते कर्मचारी

उनकी मांग और स्थिति की समीक्षा करने के बाद रेलवे बोर्ड ने यह निर्णय लिया है। इस मामले में कर्मचारियों संगठनों का कहना है कि रेल प्रशासन का यह सही कदम है। स्थिति सुधरने तक इसे लागू रखने की जरूरत है। बता दें रेलवे के वाणिज्य विभाग में टिकट घर, कंप्यूटरीकृत आरक्षण, पार्सल आदि कार्यालयों में तैनात कर्मचारियों को एक सीट पर चार साल से अधिक नहीं रखा जाता है। इसी तरह यांत्रिक, बिजली, लेखा व अन्य विभागों में संवेदनशील पदों पर तैनात कर्मचारियों को भी चार वर्ष के बाद तबादले का नियम है। कार्मिक विभाग प्रत्येक वर्ष संवेदनशील पदों पर तैनात कर्मचारियों के तबादले की सूची जारी करता है।

Advertisements