Hot India: भारत के कई हिस्सों में गर्म हवाओं ने बरसाया कहर, मौसम विभाग ने दी यह चेतावनी

Advertisements

Hot India: भारत के लोगों को मार्च में ही गर्मी की झलक देखने को मिल चुकी है। जिससे लोगों को इस बात पता चल गया है कि स बार गर्मी बहुत सताने वाली है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि भारत के ज्यादातर हिस्सों में अप्रैल और जून के बीच सामान्य से अधिकतम तापमान देखने को मिलेगा। यानि अप्रैल से जून के बीच सामान्य से अधिक गर्मी देखने को मिल सकती है।

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख के काठी ने कहा है, “हम देख रहे हैं कि मार्च में पूर्वी, मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत को कवर करने वाले एक बहुत बड़े क्षेत्र में गर्मी की लहर दर्ज की जा रही है। ऐसा इस साल की शुरुआत में ही देखने को मिल गया है। पिछले 10 सालों में हमने अप्रैल में गर्मी की लहरें देखी हैं; पहले मई में मुख्य रूप से ये शुरू होती थी। लेकिन इस बार मार्च में भी बहुत अधिक तापमान दर्ज किया गया है। यह मुख्य रूप से बारिश की कमी, शुष्क हवा, साफ आसमान और सीधी धूप के पड़ने के वजह से है।”

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: 526 सेम्पल की रिपोर्ट में 81 नए पॉजिटिव केस

उन्होंने कहा, “तेज हवाओं के कारण, दिल्ली में बुधवार को आम दिनों के मुकाबले एक सुखद दिन था, जहां अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री अधिक 37.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। लेकिन सोमवार, 29 मार्च को राजधानी में अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस को छू गया था, जो 76 वर्षों में सबसे अधिक रहा।

आईएमडी ने बुधवार को यह भी कहा कि अगले तीन महीनों (अप्रैल से जून) के दौरान सामान्य से अधिकतम या दिन का तापमान (सामान्य से ऊपर 0.37 से 0.62 डिग्री सेल्सियस) भारत के विभिन्न हिस्सों में अलग-अळग होने की संभावना है।

दिन के तापमान में सामान्य से नीचे (0.16 से 0.44 डिग्री सेल्सियस सामान्य) की संभावना केवल प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों, पूर्व, पूर्वोत्तर और चरम उत्तर भारत में है। बुधवार को पश्चिम राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में गंभीर गर्मी की लहर की स्थिति के साथ उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में गर्मी की लहरों की स्थिति दर्ज की गई।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

बता दें कि महाराष्ट्र, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिम मध्य प्रदेश, झारखंड और ओडिशा के कई हिस्सों में 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान दर्ज किया गया; पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र, कच्छ, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी पारा 40 के पार पहुंच गया और पूर्वी राजस्थान, पश्चिम उत्तर प्रदेश, गांगेय पश्चिम बंगाल, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तेलंगाना, उत्तर आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में भी 40 डिग्रई तापमान दर्ज किया गया।

Advertisements