प्रदेश में यहां लगा 10 दिन का स्वेच्छिक LOCKDOWN, कोरोना से हो रही मौत के बाद लोगों का फैसला

Advertisements

छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश में तेजी से संक्रमण  के आंकड़े बढ़ रहे हैं। जिसके बाद राज्य शासन की तरफ से लगातार बड़े निर्णय लिए जा रहे हैं। वहीं संडे लॉकडाउन के साथ-साथ नाइट कर्फ्यू  लगाया जा रहा है। वहीं जहां संक्रमण के मामले तेज है। वहां के जिला प्रशासन को निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसी बीच प्रदेश का एक ऐसा जिला है। जहां 10 दिन का स्वेच्छिक लॉकडाउन (Voluntary lockdown) लगाने का निर्णय लिया है।

दरअसल मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के ग्राम पंचायत लिंगा के निवासियों द्वारा 10 दिन का स्वैच्छिक लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। महाराष्ट्र से सटे होने के कारण छिंदवाड़ा की ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से संक्रमण की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। जिसके बाद मुखेड़ विकासखंड के लिंगा ग्राम में 10 दिन का लॉकडाउन रहेगा। इसकी सूचना जिला पंचायत सदस्य मनोज ठाकरे ने जिला प्रशासन को दी है।

इसे भी पढ़ें-  गंगाजल से शुद्धि कर बाल मुंडवाए, फिर छोड़ी बड़ी राजनीति पार्टी

बताया जा रहा है कि 8 मौत के बाद जिला पंचायत सदस्यों ने गांव में सेनिटाइजेशन करने की मांग की थी। वही एक हफ्ते में लो8 गों की मौत के बाद कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए ग्रामीणों द्वारा यह निर्णय लिया गया। वही जिला पंचायत सदस्य मनीष सिंह ने बताया कि गांव में 8 मौतें कोरोना से हुई है।

जिसके बाद गांव में भय का वातावरण है। इसके साथ ही प्रशासन ने पूरे गांव को सैनिटाइज कर स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर स्वास्थ्य जांच की बात कही है। इस मामले में जिला पंचायत सीईओ गजेंद्र सिंह नागेश ने बताया कि 1 सप्ताह में लिंगा में 8 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद ग्रामीण ग्रामीणों द्वारा संक्रमण को रोकने के लिए स्वैच्छिक लॉकडाउन लगाया गया है।

Advertisements