तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों के बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने की बैठक, लॉकडाउन लगाने के दिए संकेत

Advertisements

नई दिल्ली/मुंबई, एजेंसियां। देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर देखी जा रही है। बीते पांच महीनों में सोमवार को कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।

कोरोना को लेकर महाराष्ट्र की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है, यहां रोजाना कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्वास्थ्य अधिकारियों और कोविड टास्क फोर्स के साथ बैठक की है।

बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने निर्देश दिए हैं कि अगर लोग कोविड ​​से संबंधित नियमों का उल्लंघन करना जारी रखते हैं तो लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों के लिए तैयार रहें।

इसे भी पढ़ें-  नॉर्थ ईस्ट राज्यों में लगातार चौथे दिन भूकंप का कहर,अरुणाचल में फिर हिली धरती

वहीं, इसके पहले एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा था कि हम लॉकडाउन नहीं लगा सकते, हमने मुख्यमंत्री से अन्य विकल्पों पर विचार करने को कहा है।

बढ़ते मामलों के कारण उन्होंने प्रशासन को लॉकडाउन के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं लेकिन अगर लोग नियमों का पालन करें तो इससे बचा जा सकता है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पूरे देश में पिछले 24 घंटों के अंदर 68,020 नए कोरोना के मामले आए हैं। समाचार एजेंसी रायटर की टैली के अनुसार यह 11 अक्टूबर के बाद से सबसे अधिक रोजाना आने वाले कोरोना के नए मामले हैं। बढ़ते कोरोना मामलों के बीच केंद्र व राज्य सरकारें पूरी तरह से अलर्ट हो गई हैं।

इसे भी पढ़ें-  MP High Court: हाईकोर्ट ने मांगा निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के रेट का ब्यौरा

महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है और उधर मध्य प्रदेश के कई शहरों में सख्त पाबंदियां लागू की गई हैं।

महाराष्ट्र में लगाया गया नाइट कर्फ्यू

कोरोना के चलते देशभर में सोमवार को 291 लोगों की मौत हुई है और देश में अब तक कुल 161,843 लोगों की जान जा चुकी है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 31,643 नए मामले दर्ज किए गए और 102 लोगों की मौत हुई है। बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र सरकार सख्त लॉकडाउन लगाए जाने पर विचार कर रही है। हालांकि सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है।

Advertisements