उस होली MP इस होली महाराष्ट्र? शरद पवार के अमित शाह से मिलने की खबरों पर गरमाया माहौल, कांग्रेस ने पूछा- क्या बात हुई, देश को बताएं

Advertisements

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात करने की खबरें आने के बाद सियासी माहौल गरमा गया है। एक तरफ एनसीपी इस मीटिंग की खबरों को खारिज कर रही है, तो दूसरी ओर कांग्रेस नेताओं ने सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस नेताओं ने पूछा कि अगर गृह मंत्री देश के किसी बड़े नेता से मिल रहे हैं, तो ये देश को बताना चाहिए। यह जानना देश की जनता का हक बनता है।

आपको बता दें कि ठीक एक साल पहले एमपी में भी होली के समय ही कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिरी थी। इस बार महाराष्ट्र में सियासत में कई रंग दिखने लगे हैं।

इसे भी पढ़ें-  Security With 2 Mask: बचाव के लिए पहनें डबल मास्क, विशेषज्ञों ने दी यह सलाह

शरद पवार की अमित शाह से गुप्त मुलाकात को लेकर कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने पूछा कि अगर गृह मंत्री किसी बड़े नेता से मिलते हैं, तो देश को जानने का हक है कि बड़े नेताओं के बीच क्या बात हुई। वहीं इस खबर के सामने आने के बाद एनसीपी इसे खारिज कर रही है।

एनसीपी ने बोला, भाजपा पर हमला
एनसीपी नेता नवाब मलिक ने गुप्त मुलाकात की कथित खबर को लेकर कहा, “गुजरात के एक न्यूज पेपर में खबर छपी है कि शरद पवार साहब और प्रफुल्ल पटेल ने अमित शाह से मुलाकात की। पिछले दो दिनों से ट्विटर पर ऐसी अफवाहें उड़ रही हैं, ऐसी कोई भी मुलाकात दोनों के बीच नहीं हुई है।” मुलाकात की खबरों पर विराम लगाने की कोशिश करते हुए नवाब मलिक ने भाजपा पर हमला भी बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा मुलाकात को लेकर अफवाह फैला रही है। उन्होंने कहा कि दोनों के किसी के बीच कोई मुलाकात नहीं हुई है। शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल जयपुर से सीधे मुंबई आए थे।

इसे भी पढ़ें-  केंद्र के किस फैसले से खुश होकर उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद? जानें पूरा मामला

एनसीपी के दो बड़े नेता शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल शुक्रवार शाम अहमदाबाद पहुंचे थे। इसके बाद दोनों नेता गांधीनगर गए। माना जा रहा है कि इन दोनों नेताओं ने गांधीनगर में कुछ गुप्त मुलाकातें कीं हैं। बता दें कि पवार और शाह के बीच हुई मुलाकात की खबरों को उस वक्त बल मिल गया था, जब अमित शाह ने शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल से मीटिंग के सवाल पर कहा कि सब कुछ सार्वजनिक नहीं किया जा सकता।

Advertisements