हादसा:नालंदा में तेज रफ्तार ट्रक दुकानों में घुसा, 8 लोगों की मौत; गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर ट्रक में आग लगाई

Advertisements

बिहार में नालंदा जिले के तेल्हाड़ा में होली से एक दिन पहले बड़ा हादसा हो गया। एकंगरसराय थाना क्षेत्र के ताड़पर मोहल्ले में एक तेज रफ्तार ट्रक सड़क से लगी दुकानों में घुस गया। इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद गुस्साए लोगों ने ट्रक में आग लगी दी। भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया जिसमें 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए। मरने वालों में फिलहाल 5 की पहचान हो पाई है। इनमें तेल्हाड़ा के केरा बिगहा निवासी कौशल किशोर जमादार (65 वर्ष), घोसी, जहानाबाद के छोटी अकौना निवासी धीरेंद्र (12 वर्ष, पिता रंजय दास), घोसी, जहानाबाद के मिल्कीपर निवासी सुरुनहुल जमादार (60 वर्ष, पिता फौजदारी जमादार), तेल्हाड़ा निवासी पल्लू प्रसाद (84 वर्ष) और तेल्हाड़ा के मनोहर बिगहा निवासी प्रदुमन कुमार (16 वर्ष) शामिल हैं। घायल पुलिसकर्मियों में SI सिदेश्वर राम भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें-  अजब गजब शादी: दुल्हन ने दूल्हे को काले चश्मे में देखा तो बोली अखबार पढ़ो

सड़क किनारे की छोटी दुकानों को रौंदता गया ट्रक
जहानाबाद की तरफ से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने दुकानों में घुसने से पहले सड़क किनारे फल-सब्जी की दुकान लगाने वालों को रौंद दिया। दीवार से टकराकर रुकने से पहले ट्रक ने मिठाई की एक दुकान में मौजूद लोगों को कुचल दिया। हादसे के बाद ट्रक का ड्राइवर मौके से फरार हो गया।

ट्रक की टक्कर से कई दुकानें तहस-नहस हो गईं और वहां खड़े लोगों की जान चली गई।
ट्रक की टक्कर से कई दुकानें तहस-नहस हो गईं और वहां खड़े लोगों की जान चली गई।

गुस्साई भीड़ ने थाने में की तोड़फोड़, 8 गाड़ियां फूंकीं
घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने घटनास्थल से 50 मीटर की दूरी पर तेल्हाड़ा थाने में भी तोड़फोड़ की। थाना परिसर में खड़े 8 वाहनों को भी आग लगा दी गई। लोगों ने सड़क भी जाम कर दी, जिससे दोनों तरफ लंबा जाम लग गया। कई घंटे तक जहानाबाद-बिहारशरीफ हाईवे पर गाड़ियों की आवाजाही शुरू नहीं हो पाई।

गुस्साई भीड़ ने घटनास्थल से 50 मीटर की दूरी पर तेल्हाड़ा थाने में भी तोड़फोड़ की। वहां खड़ी 8 गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया।
गुस्साई भीड़ ने घटनास्थल से 50 मीटर की दूरी पर तेल्हाड़ा थाने में भी तोड़फोड़ की। वहां खड़ी 8 गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया।

शवों को पहचानना हुआ मुश्किल
हादसे के बाद का मंजर काफी भयानक था। सड़क किनारे दुकानों के आगे कुचली हुई लाशें नजर आ रही थीं। एक-दो के चेहरे इतनी बुरी तरह कुचले हुए थे कि उन्हें पहचानना मुश्किल हो रहा था। मृतकों की पहचान उनके कपड़ों से भी नहीं हो पा रही थी। कई शव ऐसी हालत में थे कि शरीर के हिस्सों को जोड़ना तक संभव नहीं था। लोगों ने आसपास से चादर-बोरे लाकर शवों के टुकड़ों को ढंका।

इसे भी पढ़ें-  Bride Slapped Groom : विदा होकर ससुराल पहुंची दुल्हन ने गाड़ी से उतरते ही दूल्हे को जड़ा थप्पड़, फिर...

CM के निर्देश पर 4-4 लाख अनुदान

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने 4-4 लाख रुपए का अनुग्रह अनुदान मृतकों के आश्रितों को देने का संबंधित पदाधिकारियों को आदेश दिया। CM ने सभी घायलों के नि:शुल्क इलाज का भी निर्देश दिया है। CM के निर्देश पर नालंदा DM द्वारा सभी मृतकों के आश्रितों को 4-4 लाख काअनुग्रह अनुदान उपलब्ध करा दिया गया है।

Advertisements