प्यार-परिवार के बीच फंसे जोड़ों को मदद देगी केजरीवाल सरकार, ‘समाज’ से बचाने को सेफ हाउस तैयार

Advertisements

प्यार करने वालों को दिल्ली सरकार ने एक तोहफा दिया है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अंतरजातीय या दूसरे धर्म में शादी करने वालों और ऐसे कुंवारे जोड़ों के लिए स्पेशल सेल गठित करने का निर्देश दिया है जिनके रिश्ते का विरोध उनका परिवार, स्थानीय समुदाय या खाप कर रहा है।

ऐसे जोड़ों को उत्पीड़न से बचाने और सुरक्षा देने के लिए दिल्ली सरकार ने ‘सेफ हाउस’ बनाने का निर्णय लिया है। इस संबंध में SOP यानी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर भी जारी कर दी गई है।

दिल्ली सरकार की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि जिन जोड़ों के रिश्ते का विरोध उनका परिवार, स्थानीय समुदाय या खाप कर रहा है, उन्हें सेफ हाउस मुहैया कराया जाएगा। इतना ही नहीं इन जोड़ों के लिए एक 24 घंटे काम करने वाला हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-  चुनाव में ऐसे उड़ रही कोविड नियमों की धज्जियां? कोरोना वॉर्ड को बना डाला पोलिंग बूथ

दिल्ली महिला आयोग की मौजूदा टोल फ्री हेल्पलाइन 181 ही इस स्पेशल सेल की 24 घंटे की हेल्पलाइन के तौर पर काम करेगी। इसी के जरिए उन्हें हर जरूरी मदद दी जाएगी।

दिल्ली सरकार के सर्कुलर के मुताबिक, अगर किसी अंतर-जातीय या फिर गैर-मजहबी शादी करने वाले जोड़ों को धमकियां दी जा रही हैं तो उनको सेफ हाउस में रखा जाएगा। ऐसे जोड़े मदद के लिए दिल्ली महिला आयोग के टोल फ्री नंबर 181 पर कॉल कर सकते हैं।

दिल्ली सरकार कॉल करने वालों की गोपनीयता का ध्यान वैसे ही रखेगी जैसे संकट में पड़ी महिलाओं की गोपनीयता का रखा जाता है। हालांकि, कॉल आने के बाद सबसे पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि शिकायतकर्ता बालिग है या नहीं। इसके बाद इलाके के डिप्टी पुलिस कमिश्नर को सूचना दी जाएगी। डीसीपी ही स्पेशल सेल के प्रमुख के तौर पर काम करेंगे।

इसे भी पढ़ें-  पटना में बड़ा हादसा: पीपा पुल से गंगा में गिरी गाड़ी, नौ शव निकाले गए; करीब आठ लोग अब भी लापता

डीसीपी पूरे मामले की जानकारी इलाके के डीएम को देंगे और यह बताएंगे कि जोड़े को सेफ हाउस में रहना है। जोड़े को पीएसओ के रूप में पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी और खतरे के बारे में बताया जायेगा और किसी भी सूरत में समस्या का समाधान होने से पहले उन्हें उजागर नहीं किया जाएगा।

Advertisements