कटनी अधिवक्ता संघ के शपथ ग्रहण समारोह में बोले न्यायमूर्ति श्रीधरन- हाईकोर्ट का चेहरा होते हैं जिला न्यायालय

Advertisements

कटनी। आशीष रैैैकवार। जिला अधिवक्ता संघ की नवनिर्वाचित कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह शुक्रवार को झिंझरी स्थित जिला न्यायालय परिसर में आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर के न्यायाधिपति एवं कटनी जिले के प्रभारी जस्टिस श्री अतुल श्रीधरन की गरिमामयी उपस्थिति रही।

अन्य अतिथियों के रूप में स्टेट बार कौंसिल के उपाध्यक्ष आर के सैनी, कोषाध्यक्ष रश्मि ऋतु जैन, स्टेट बार कौंसिल के सदस्य मनीष दत्त, शैलेन्द्र वर्मा, मनीष तिवारी, हाईकोर्ट के पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता नवीन शुक्ला एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्यामाचरण उपाध्याय मंचासीन रहे। शपथ ग्रहण समारोह के प्रारंभ में अतिथियों ने दीप प्रज्वलन कर शपथ ग्रहण समारोह की शुरूआत की।

इसके उपरांत जिला अधिवक्ता संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष अमित शुक्ला एवं कार्यकारिणी के अन्य पदाधिकारियों ने मंचासीन अतिथियों का पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया। तदुपरांत नवीन कार्यकारिणी को शपथ ग्रहण करवाई गई। मुख्य अतिथि सहित अन्य अतिथियों द्वारा नवीन कार्यकारिणी के समस्त पदाधिकारियों और चुनाव में सहयोग करने वाले अधिवक्ताओं को प्रशस्ति पत्र का वितरण किया गया।

इसे भी पढ़ें-  महाराष्ट्र में आज रात 8 बजे से 1 मई तक होगी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, जानें क्या रहेगा खुला और क्या बंद?

इन पदाधिकारियों ने ली शपथ
जिला अधिवक्ता संघ के चुनाव में निर्वाचित पदाधिकारियों को मुख्य अतिथि मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर के न्यायाधिपति एवं कटनी जिले के प्रभारी जस्टिस श्री अतुल श्रीधरन द्वारा शपथ ग्रहण करवाई गई। जिसमे अध्यक्ष अमित शुक्ला, उपाध्यक्ष रवीन्द्र जायसवाल, सचिव मथुरा तिवारी, सहसचिव जीत नारायण जायसवाल, कोषाध्यक्ष मीत धवल, पुस्तकालय प्रभारी संदीप नायक, कार्यकारिणी सदस्य अनुज तिवारी, मीना सिंह बघेल, अजय जायसवाल, रघुवीर सिंह राजपूत, रणजीत चौहान, दुष्यंत गुप्ता एवं अंजुला सरावगी ने शपथ ग्रहण की।

आम आदमी तक पहुंचे सही न्याय
मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर के न्यायाधिपति एवं कटनी जिले के प्रभारी जस्टिस श्री अतुल श्रीधरन ने अपने उद्बोधन में कहा कि हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में केस करना तो दूर की बात है, आम आदमी इनकी चारदीवारी के भीतर झांक तक नहीं पाता, क्योंकि आम आदमी के लिए दिल्ली बहुत दूर जैसी कहावत चरितार्थ होती है। उन्होंने अपने उद्बोधन के दौरान कहा कि जिला न्यायाधीशों को आम आदमी तक सही न्याय पहुंचे, इस दिशा में काम करना चाहिए। अधिवक्ताओं पर भी जिम्मेदारी है कि वे समाज के अंतिम छोर तक न्याय पहुंचाने में कोर्ट को सहयोग करें। बार और बेंच का विवाद दोनों की गरिमा को ठेस पहुंचाता है, इसलिए बार  और बेंच के संबंध मधुर रहना चाहिए।

इसे भी पढ़ें-  चुनाव में ऐसे उड़ रही कोविड नियमों की धज्जियां? कोरोना वॉर्ड को बना डाला पोलिंग बूथ

इनकी रही उपस्थिति
शपथ ग्रहण समारोह में जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्यामाचरण उपाध्याय, समस्त न्यायाधीशगण, जिला उपभोक्ता फोरम की वर्तमान अध्यक्ष एवं सेवानिवृत्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कटनी श्रीमती राधा सोनकर, जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष राजेश दीक्षित, सुधाकर चतुर्वेदी मुन्नू भैया, आलोक जैन, राजीव अग्निहोत्री मुन्ना भैया, मिथलेश जैन, संतू परौहा, अनादि निगम, राकेश यादव, रवीन्द्र गुप्ता, आशीष दुबे, हेमंत श्रीवास्तव, राजेश लखेरा, मौसूफ अहमद, नितिन विश्वकर्मा, रघुनाथ प्रसाद पटेल, सुश्री रिमझिम बैनर्जी, रजनी नायक, अधिवक्ता ललित कुमार त्रिपाठी, मनोज कुमार सोनी मनोज कुमार गर्ग, निर्मल कुमार दुबे, अजय कुमार पांडे, राजेश कुमार मिश्रा, रवि प्रकाश ठाकुर, अनिल सिंह सेंगर, शारदा त्रिपाठी, सुशील कुमार बडग़ंैया, बलराम गुप्ता, कृष्ण कुमार गुप्ता, अभिषेक पांडे मोनू, दिनेश कुमार निगम, विकास कनौजिया, प्रकाश भूमिया, नानक राम देवानी आदि की उपस्थिति रही।

Advertisements