सुनंदा पुष्कर के परिवार व मित्रों ने कहा वह आत्महत्या नहीं कर सकती: थरूर

Advertisements
नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरुर ने शुक्रवार को अदालत को बताया कि उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर के परिवार और मित्रों का अभी भी कहना है कि वह आत्महत्या नहीं कर सकती थी। थरुर की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता विकास पहवा ने अदालत में यह जानकारी दी। पाहवा ने अदालत को यदि उन्होंने आत्महत्या नहीं की है तो फिर आत्महत्या के लिए उकसाने का कोई मामला नहीं बनता है, ऐसे में मुकदमे का निपटारा कर देना चाहिए।
विशेष न्यायाधीश गीतांजलि गोयल के समक्ष मामले में मुकदमा चलाने के लिए आरोप तय करने पर हो रही बहस के दौरान ने थरूर के वकील ने यह जानकारी दी है। वरिष्ठ अधिवक्ता ने पहवा ने कहा कि उनके रिश्तेदारों और बेटे का कहना है कि वह साहसी महिला थीं और उनकी मौत आत्महत्या नहीं हो सकती है। साथ ही कहा कि यदि उन्होंने आत्महत्या नहीं की है तो फिर आत्महत्या के लिए उकसाने का कोई मामला कैसे बन सकता है।
पाहवा ने कहा है कि अभियोजन पक्ष यह साबित करने में पूरी तरह से विफल रहा है कि यह आत्महत्या का मामला है। अब मामले की अगली सुनवाई 9 अप्रैल की तारीख तय की है। अधिवक्ता ने कहा कि पहले कहा गया था कि पोस्टमॉर्टम और अन्य मेडिकल रिकॉर्ड से पहले ही तय हो चुका है कि यह आत्महत्या या हत्या का मामला नहीं है। पाहवा ने कहा कि किसी भी गवाह ने उनके (थरुर) खिलाफ दहेज, प्रताड़ना या क्रूरता का आरोप नहीं लगाया है। थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर का शव 17 जनवरी, 2014 की रात को राजधानी के पांच सितारा होटल के कमरे से मिला था। थरुर दंपति उस दौरान होटल में रह रहा था क्योंकि उनके सरकारी बंगले में मरम्मत का काम चल रहा था।
Advertisements

इसे भी पढ़ें-  दिल दहलाने वाली घटना: पिता ने बेटी से रेप का लिया ख़ौफ़नाक बदला, उतारा आरोपी के परिवार के 6 लोगों को मौत के घाट