यहां एकाएक बढ़ गया चूहों का आतंक, जानिए क्या है पूरा मामला

Advertisements

ऑस्ट्रेलिया इन दिनों एक के बाद एक मुसीबतों का सामना कर रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को ये देश झेल ही रहा था कि इसी बीच जंगल में लगी आगों ने बुरी तरह से हिला दिया। फिलहाल इस देश में एक मुसीबत चूहों के कारण पनपती दिख रही है। यहां पर एकाएक चूहों की संख्या इतनी बढ़ गई है कि स्थानीय दुकनदार से लेकर आम लोग दिनभर चूहें पकड़ रहे हैं। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि चूहों के कारण प्लेग जैसी महामारी न फैल जाए।
बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स और क्वींसलैंड जैसे शहरों में एकाएक लाखों की संख्या में हर तरफ चूहे दिख रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग वीडियो साझा कर अपने घरों में चूहों के आतंक को दिखा रहे हैं। आखिर ऑस्ट्रेलिया में चूहों का इतना आतंक क्यों मचा हुआ है, इसे समझने के लिए थोड़ा इतिहास में जाना होगा।

एक समय ऐसा था, जब ऑस्ट्रेलिया में चूहे बिल्कुल नहीं थे। यहां साल 1787 में पहली चूहों को देखा गया। जांच के दौरान पता चला कि ये चूहे ब्रिटेन से व्यापार के दौरान जहाज से होते हुए ऑस्ट्रेलिया पहुंच गए थे।

बता दें कि दुनिया के लगभग सभी देशों में चूहे चीन से फैले माने जाते हैं। अक्सर व्यापार के आने-जाने वाले जहाजों के जरिए ये फैलता था। इतिहासकारों के मुताबिक, लगभग 2 हजार साल पहले चीन की वजह से ही दूसरे देशों में प्लेग का एक खास प्रकार पहुंचने लगा। इस बात का प्रमाण साल 1347 में मिला था, जब इटली में चीन से आए 12 जहाजों के कारण चूहे भी आए थे और फिर पूरी इटली प्लेग की चपेट में आ गई।

ताजा हालातों की बात करें, तो पिछले साल के मध्य से ही ऑस्ट्रेलिया में चूहे बढ़ने लगे थे। उसी समय से इनकी तादाद बढ़ती जा रही है। चूहों से लोगों को केवल अनाज और दूसरे सामानों के नुकसान का ही डर नहीं, बल्कि प्लेग जैसी महामारी का डर भी सता रहा है। ऑस्ट्रेलिया के कई प्रांतों में पानी की टंकियों में चूहे मरे मिले, इसके बाद से ये आशंका और बढ़ गई है।

 

Advertisements