चीन ने मानी लद्दाख में तनाव कम होने की बात लेकिन LAC के बाकी इलाकों से सेना की वापसी पर साधी चुप्पी

Advertisements

चीनी सेना ने गुरुवार को कहा कि पैंगोंग झील इलाके से सैनिकों को पीछे हटाने के लिए भारत के साथ की गई संयुक्त कोशिशों के चलते पूर्व लद्दाख में तनाव कम हुआ है। लेकिन उसने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से लगे बाकी इलाकों से सैनिकों को हटाने के बारे में कोई संकेत नहीं दिया।

सिलसिलेवार सैन्य एवं कूटनीतिक वार्ताओं के चलते दोनों देशों ने पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिण तटों से सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया पिछले महीने पूरी कर ली। दोनों देशों ने सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर हुए समझौते के तहत ऐसा किया। एलएसी से लगे शेष इलाकों से सैनिकों को हटाया जाना अभी बाकी है। भारतीय थल सेना हॉट स्प्रिंग, गोगरा और देपसांग जैसे इलाकों से सैनिकों को तेजी से हटाने की प्रक्रिया पर जोर दे रही है, ताकि पर्वतीय क्षेत्र में तनाव को कम किया जा सके।

इसे भी पढ़ें-  Guest Scholar: अतिथि विद्वानों को भी मिलेंगे 1500 प्रतिदिन मानदेय

चीन के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता और वरिष्ठ कर्नल रेन गुयोकियांग ने ऑनलाइन प्रेस वार्ता में कहा कि वर्तमान में चीन और भारत ने पैंगोंग झील इलाके में अग्रिम पंक्ति के सैनिकों को पीछे हटा लिया है।

दोनों देश मौजूदा कदमों पर सकारात्मक रूप से टिप्पणी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय संयुक्त प्रयासों को जाता है। रेन के हवाले से चीनी मिलिट्री ऑनलाइन पोर्टल ने कहा कि दोनों पक्ष चीन-भारत सीमा के पश्चिम हिस्से में अन्य मुद्दों को सुलझाने के लिए सैन्य एवं कूटनीतिक माध्यमों से संवाद कायम रखने के लिए सहमत हुए हैं।

Advertisements