आज शुक्रवार को भारत बंद का आह्वान, चक्का जाम करेंगे किसान

Advertisements

शुक्रवार को किसान आंदोलन के 4 महीने पूरे होनेवाले हैं। इस मौके पर किसान संगठनों ने देशव्यापी बंद का आह्वान किया है। किसानों के संगठन संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने देश के नागरिकों से 26 मार्च के भारत बंद को पूरी तरह सफल बनाने की अपील की है। आपको बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर हजारों किसान केन्द्र सरकार के नये कृषि कानूनों को खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हैं और किसान संगठनों और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत के बावजूद कोई सर्वमान्य हल नहीं निकला है। .

‘भारत बंद’ का आह्वान करनेवाले संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक किसान आंदोलन के 120 दिन पूरे होने के मौके पर इस बंद का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान देशभर में सड़क और रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे। कांग्रेस, लेफ्ट, समेत कई विपक्षी दलों ने इस बंद का समर्थन किया है। इसके अलावा 28 मार्च को होलिका दहन पर नए कानूनों की प्रतियां जलाने का भी फैसला किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  सारा अली खान और जाह्नवी कपूर के बीच है जबरदस्त बॉन्डिंग, साथ में करती दिखीं वर्कआउट

ये भारत बंद पूरे देश में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक प्रभावी रहेगा। वैसे जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में चुनाव होने हैं, उन्हें इससे अलग रखा जाएगा। इस दौरान, रेल और सड़क यातायात के अलावा सभी दुकानों और सार्वजनिक स्थलों को बंद रखा जाएगा। वहीं निजी कंपनियां, फैक्ट्री , पेट्रोल पंप, मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर जैसी जरूरी चीजें र सभी आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं चालू रहेंगी।

भारत बंद’ का आह्वान करनेवाले संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक किसान आंदोलन के 120 दिन पूरे होने के मौके पर इस बंद का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान देशभर में सड़क और रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे। कांग्रेस, लेफ्ट, समेत कई विपक्षी दलों ने इस बंद का समर्थन किया है। इसके अलावा 28 मार्च को होलिका दहन पर नए कानूनों की प्रतियां जलाने का भी फैसला किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Declared covishield vaccine price कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत का ऐलान: प्राइवेट अस्पतालों में 600 तो सरकारी में 400 रुपए में मिलेगी एक खुराक

 

ये भारत बंद पूरे देश में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक प्रभावी रहेगा। वैसे जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में चुनाव होने हैं, उन्हें इससे अलग रखा जाएगा। इस दौरान, रेल और सड़क यातायात के अलावा सभी दुकानों और सार्वजनिक स्थलों को बंद रखा जाएगा। वहीं निजी कंपनियां, फैक्ट्री , पेट्रोल पंप, मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर जैसी जरूरी चीजें र सभी आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं चालू रहेंगी।

Advertisements