वकील गोली कांड: सिहोरा में दोस्त के साथ बनाई थी हत्या की योजना, ऐसे हुआ खुलासा

Advertisements

जबलपुर। सिहोरा न्यायालय में 22 मार्च को अधिवक्ता सूर्यभान सिंह राजपूत पर हुए जानलेवा हमले के दो और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

अधिवक्ता की हत्या की योजना जबलपुर सरकारी कुंआ गौतम नगर में रहने वाले युवक और उसके एक अन्य साथी बनाई थी। इसके लिए आरोपी एक दिन सिहोरा में किराये के मकान में रूका और अपने एक दोस्त के साथ योजना बनाई।

मालूम हो कि सिहोरा कोर्ट के बाहर अधिवक्ता पर दनादन गोलियां दागी गई थी जिसमें अधिवक्ता गंभीर रूप से घायल हो गए थे। पुलिस ने घटना के बाद मुख्य आरोपी सुशील सिंह ठाकुर को कुछ मिनिट बाद ही गिरफ्तार कर लिया था।

आरोपियो को पकड़ने बनाई टीम
पुलिस अधीक्षक द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम गठित की। टीम द्वारा आरोपी राहुल सिंह पिता सुशील सिंह ठाकुर उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम मदना थाना पनागर हाल शिवधाम कालोनी स्वास्तिक हॉस्पिटल के सामने माढोताल , कों जिला निवाडी के ग्राम कुलुआ से गिरफ्तार किया गया जिसने पूछताछ पर बताया कि घटना के पूर्व से अपने पिता सुशील ठाकुर तथा भतीजे विकास के साथ काम करने वाले अंकित उर्फ आदित्य पाली निवासी सरकारी कुआं गौतम नगर कब्रिस्तान के बाजू में थाना बेलबाग के साथ गनियारी निवासी सूर्यभान सिंह की हत्या करने की योजना बनाई ।

अंकित को उपलब्ध कराया गया 315 बोर का कट्टा
अंकित को सूर्यभान की हत्या करने के लिये एक 315 बोर का कट्टा एवं 03 कारतूस दिया था। उक्त कट्टा बड़े भाई राजेश सिंह ठाकुर ने जब पैरोल पर छूट कर आये थे उस समय दिया था । राजेश सिंह ठाकुर जो पैरोल अवधि समाप्त होने के बाद केन्द्रीय जेल जबलपुर में निरूद्ध की प्रकरण में विधिवत गिरफ्तारी की जा रही है।
सिहोरा में किराये मकान में रूका दूसरा आरोपी संजय
आरोपी अंकित उर्फ आदित्य पाली पिता अशोक पाली उम्र 20 वर्ष निवासी सरकारी कुआं गौतम नगर कब्रिस्तान के बाजू में थाना बेलबाग को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गयी तो बताया की योजना के अनुसार दिनांक 19 मार्च को एक काले रंग की एक्सेस स्कूटी में सिहोरा गया और अपने दोस्त रोहित उर्फ संजय पटेल निवासी खितौला के माध्यम से किराये का मकान लेकर रूक गया।
राहुल के साथ बनाई हत्या की योजना
पुलिस ने बताया कि इस बीच उसकी राहुल सिंह व सुशील सिंह से सूर्यभान को मारने के संबंध में मोबाईल पर बातचीत लगातार होती थी । 22 मार्च को भी राहुल ने फोन पर बताया था कि आज सूर्यभान सिहोरा आयेगा तब वह स्कूटी से 04 बजे शाम सिहोरा न्यायालय पहुंच गये।
कार के पास कट्टा लेकर इंतजार कर रहे थे
पुलिस ने बताया कि आरोपी सुशील सिंह सूर्यभान की कार के पास कट्टा लेकर इंतजार कर रहा था उस दौरान राहुल ने उसे फोन पर बताया था की सूर्यभान सिहोरा कोर्ट पहुंच गया । करीब 05.30 बजे सूर्यभान अकेला कोर्ट से निकलकर अपनी कार के पास पहुंचा तभी उसने अपने पास रखे 315 बोर के कट्टे से सूर्यभान को गोली मार दी।

Advertisements