बेटे की शादी से बूढ़ी मां की जिंदगी हो गई नरक: बहू सब्जी-दाल में मिला देती है पानी, बेटा कुछ बोले तो पिटवा देती है भाइयों से

Advertisements

जबलपुर। दमोहनाका में रहने वाली 70 साल की वृद्धा की दास्तां जिसने सुनी उसके आंख से आंसू नहीं रूके। बेटे की शादी करके वृद्धा ने सोचा था कि बहू बुढ़ापे का सहारा बनेगी, उसे दो वक्त की रोटी देगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं, वृद्धा के सपने उस समय चकनाचूर हो गए जब बहू की प्रताड़ना सिर से ऊपर हो गई। बेटे की शादी से मां की जिंदगी नरक हो गई। बहू खाने में पानी डाल देती है, बेटा कुछ कहता है तो उसने अपने भाईयों से पिटवाती है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची लाचार वृद्धा की कहानी जब एसपी ने सुनी तो वह हैरान हो गए।

इसे भी पढ़ें-  चिराग का दर्द: खामोशी से 'हनुमान' का वध देखना 'राम' को शोभा नहीं देता, अब पीएम मोदी से मांगी मदद

जानकारी के अनुसार ये फरियाद लेकर दमोह नाका धर्मकांटा थाना कोतवाली निवासी बैसखिया बाई चौधरी (70) पहुंची थी। पति खमरिया फैक्टरी में थे। उनके निधन के बाद 10 हजार रुपए की पेंशन पर पूरा परिवार पलता है। इकलौता बेटा है। उसी के साथ रहती हैं। तीन बेटियां थीं, सभी की शादी हो चुकी है। बैसखिया बाई के मुताबिक बेटे की शादी के बाद से उसकी जिंदगी नरक बन गई। कुछ दिनों तक तो सब ठीक था। इसके बाद बहू परेशान करने लगी।

कई बार बेटे का पीट चुकी है बहू
उसकी सब्जी व दाल में पानी मिला देती है। खाना नहीं बनाती। कई बार उस पर भी हाथ छोड़ चुकी है। अक्सर रूठ कर मायके चली जाती है। बेटा भी मेरी बहू से डरता है। कई बार भाइयों को बुलाकर बेटे को पिटवा चुकी है, जबकि वह पेंशन मिलने पर हर महीने का पूरा राशन खरीद कर रखवा देती है। मैं कोई कार्रवाई नहीं चाहती, बस मेरी बहू को समझा दो कि वह मुझे अच्छे से रखे। मेरा परिवार अच्छे से रहे।

इसे भी पढ़ें-  Covaxin को मिल सकती है DGCI की मंजूरी, थर्ड फेज ट्रायल में 77.8 फीसदी तक प्रभावी रहा टीका

शिकायत सुनकर एक्शन में आए एसपी
एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने शिकायत सुनने के बाद पहले उन्हें भोजन करवाने के लिए निर्देश दिए। ओमती टीआई एसपीएस बघेल खाना लेकर पहुंचे। इसके बाद गोहलपुर पुलिस, कोड रेड और आलम्बन शाखा को वृद्धा को उसके घर ले जाकर बहू की काउंसलिंग कराने का निर्देश दिए। एसपी के आदेश पर कंट्रोल रूम गोहलपुर थाने की पुलिस पहुंची। वृद्धा को अपने साथ लेकर घर गई। वहां काउंसलिंग हुई। बहू ने लिखकर दिया है कि वह आगे शिकायत का मौका नहीं देगी।

Advertisements