इस जेल के कैदियों से सबसे पहले कोरोना रोकने का प्रयास किया, आज लगी उन्हें वैक्सीन

Advertisements

जबलपुर। कोरोना के प्रथम चरण में जहां पूरा प्रदेश-देश परेशान था, तब नेताजी सुभाषचंद्र बोस केंद्रीय जेल के कैदी अपने कर्तव्यों का निर्वाहन कर रहे थे। प्रदेश में सबसे पहले कोरोना को रोकने का प्रयास यही से शुरू हुआ।

जबलपुर जेल के कैदियों ने ही सबसे पहले मास्क बनाने का काम शुरू किया इसके बाद अन्य जेलों में इसकी शुरूआत हुई। आज तक करीब 1 लाख मास्क बनाकर कैदी दे चुकें है। कैदियों के कार्यों को देखकर आज उन्हें वैक्सीन लगाई गई। नेताजी सुभाषचंद्र बोस केन्द्रीय जेल जबलपुर में माननीय उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति जबलपुर मध्यप्रदेश के निर्देशन में विशेष मेडिकल कैम्प का आयोजन किया गया ।जिसमें माननीय उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति जबलपुर के न्यायमूर्ति प्रकाश श्रीवास्तव , ( प्रशासनिक न्यायाधीश माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर ) , न्यायमूर्ति की अतुल जीवन , अय्या म.प्र . उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति जबलपुर को जेल गेट पर गार्ड आॅफ आनर के साथ स्वागत किया गया। सुभाष कक्ष में नेताजी सुभाषचंद्र बोस की शयिका एवं प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नेताजी को याद किया गया । मां सरस्वती प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर पुष्प अर्पित किये गये है।

इसे भी पढ़ें-  Story Of Dashahari Aam : दशहरी आम के जनक की: तीन सौ साल है इस पेड़ की उम्र, 1600 वर्ग फीट में है फैला, पढ़ें इससे जुड़ा इतिहास

गोपाल प्रसाद ताम्रकार , जेल अधीक्षक ( प्रभारी डी.आई.जी. रेंज ) जबलपुर के द्वारा मुख्य अतिथियों का पुष्प गुच्छ से स्वागत किया गया । सर्वप्रथम जिला चिकित्सालय की वैक्सिनेशन टीम द्वारा जेल में सजायाफ्ता पात्र बंदियों का लिखित सहमति के आधार पर चिकित्सीय देखरेख में वैक्सिनेशन का शुभारंभ किया गया । उल्लेखनीय है , कि फंट लाईन वर्कस के रूप में जेल अधीक्षक को 25 जनवरी को वैक्सीन लगाई गई थी।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई चर्चा
वर्तमान तक जेल के सभी अधिकारियों / कर्मचारियों / परिजनों आदि 300 लोगों का वैक्सिनेशन हो चुका है । माननीय न्यायमूर्ति प्रकाश श्रीवास्तव , प्रशासनिक न्यायाधीश माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर , न्यायमूर्ति अतुलस- अ20 . उच्च न्यायालयविधिक सेवा समिति लिहिलार के द्वारा वीडियो कांफेन्सिंग के माध्यम से मध्यप्रदेश के सभी केन्द्रीय जेलों में आयोजित स्वास्थ्य शिविरों का अवलोकन कर चर्चा की गई । केन्द्रीय जेल जबलपुर के जेल चिकित्सालय में उनके द्वारा बृहद स्वास्थ्य शिविर का अवलोकन किया गया है एवं मेडिकल कॉलेज जबलपुर एवं जिला चिकित्सालय से आये हुये डॉक्टरों द्वारा बंदियों का चैकप भी किया गया।

इसे भी पढ़ें-  Story Of Dashahari Aam : दशहरी आम के जनक की: तीन सौ साल है इस पेड़ की उम्र, 1600 वर्ग फीट में है फैला, पढ़ें इससे जुड़ा इतिहास

शिविर में ये हुए शामिल
इस अवसर पर गिरिबाला सिंह सदस्य सचिव म.प्र . राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर, नवीन कुमार सक्सेना जिला एवं सत्र न्यायाधीश जबलपुर , राजीव कर्महे रजिस्ट्रार / सचिव म.प्र . उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति जबलपुर , शरद भामकर रजिस्ट्रार / सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर , डी.के.सिंह अतिरिक्ति – सचिव म.प्र . राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण , वरूण पुनासे मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट , अरविंद श्रीवास्तव उप – सचिव म.प्र . राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण , मोहम्मद जिलानी विधिक सहायता अधिकारी , जिला विधिक सेवा प्राधिकरण आदि मौजूद थे।

Advertisements