Janta Curfew Anniversary: जब देशभर में गूंज उठी थी ताली-थाली, इस वीडियो में देखें जनता कर्फ्यू की मजेदार यादें

Advertisements

22 मार्च 2020 का दिन किसे याद नहीं होगा? जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अपील पर भारतवासियों ने खुद को घरों में कैद कर लिया था और फिर शाम को कोरोना योद्धाओं के प्रति सम्मान व्यक्त करने के उद्देश्य से लोगों ने पांच मिनट तक ताली-थाली बजाए थे।

22 मार्च 2020 के दिन को जनता कर्फ्यू के नाम से जाना जाता है। आज जनता कर्फ्यू के एक साल पूरे हो गए, खौफ के साए के बीच जनता कर्फ्यू की कई मजेदार यादें भी लोगों के जहन में होंगी।

आज हम आपको एक ऐसा ही वीडियो दिखाएंगे जो जनता कर्फ्यू की मजेदार याद को ताज कर देगी।

इसे भी पढ़ें-  सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा का निधन

दरअसल, कोरोना महामारी की दस्तक के साथ ही पूरा देश इसके खिलाफ एकजुट दिखा। चीन में बड़ी संख्या में मौतें और दुनियाभर से कोरोना की दहला देने वाली रिपोर्टों के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च, 2020 दिन रविवार को सुबह सात से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। प्रधानमंत्री ने जान-जोखिम में डालकर कर्तव्य निभाने वाले चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, सुरक्षाकर्मियों और मीडियाकर्मियों को धन्यवाद अर्पित करने का लोगों से आह्वान किया। उन्होंने जनता से अपील की कि शाम ठीक पांच बजे अपने दरवाजे या बालकनी में खड़े होकर कोरोना योद्धाओं के सम्मान में पांच मिनट तक ताली-थाली बजाएं।

इस ऐलान का ऐसा असर हुआ कि लोगों ने हाथों-हाथ अपील को लिया और तय समय पर पूरा देश ताली-थाली की आवाज से गूंज उठा। हालांकि, इस दौरान ऐसे कई दृश्य भी सामने आए जो काफी गुदगुदाने वाले थे। कुछ लोगों के ताली-थाली बजाने का तरीका इतना रोचक और मजेदार था कि उसका वीडियो देखते ही देखते वायरल हो गया। ताली-थाली बजाने से भले ही कोरोना को कुछ नहीं हुआ हो, मगर कुछ तस्वीरों ने लोगों को मनोरंजन खूब किया।

इसे भी पढ़ें-  कोरोना से बचाव की गारंटी नहीं वैक्सीन, तीव्रता होगी कम, घटेगी मृत्यु दर: एक्सपर्ट्स

पीएम मोदी की अपील को कुछ लोगों ने इनता ज्यादा सीरियसली ले लिया था कि वे घरों से बाहर भी निकल गए और मशाल जलाने लगे, सड़कों पर निकलकर ताली-थाली बजाने लगे।

वह दिन हर किसी को याद है। कोरोना वायरस ने ऐसा कहर बरपाया कि देशभर में लॉकडाउन लगाया गया, जिसके चलते सड़कों पर सन्नाटा पसर गया और लोग घरों में कैद हो गए। जिंदगी थम सी गई।

उस दिन कैंडल जलाकर और थाली बजाकर लोगों ने एक-दूसरे का उत्साह बढ़ाया। आज उसी जनता कर्फ्यू के एक साल हो गए। इस एक साल में कोरोना के खिलाफ जंग में भारत डटकर खड़ा है, मगर वैक्सीनेशन के बाद भी कोरोना फिर जोर पकड़ रहा है।

Advertisements