नगर निगम ग्वालियर के जोनल अधिकारी और टाईमकीपर पचास हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

Advertisements

ईओडब्ल्यू ग्वालियर द्वारा नगर निगम ग्वालियर के जोनल अधिकारी और टाईमकीपर पचास हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। आवेदक अनूप कुशवाह, निवासी वीरपुर, सिकन्दर कम्पू ग्वालियर द्वारा दिनांक 18.03.2021 को हस्त लिखित आवेदन पत्र ई0ओ.डब्ल्यू. ग्वालियर में प्रस्तुत कर लेख किया था कि उसने ग्राम भाटखेडी वार्ड क्रमांक 60 नगर निगम ग्वालियर में 1 बीघा 15 विस्वा जमीन वर्ष 2019 में खरीदी थी, जिसमें प्लाटिंग का काम किया था, जिसमें 9 लोगों द्वारा अपने मकान बना लिये है।

उन मकानों को अवैध बताकर, कोई कार्यवाही नहीं करने के एवज में मनीष कन्नोजिया जोनल ऑफीसर क्षेत्र क्रमांक 14, शारदा विहार कॉलोनी, नगर निगम ग्वालियर एवं 2- इन्दर सिंह टाईमकीपर नगर निगम ग्वालियर द्वारा तीन लाख रूपये की मांग की जा रही थी।

इसे भी पढ़ें-  Katni Road Accident : सड़क हादसे में 108 एम्बुलेंस सहायक डॉक्टर की मौत

जिसका सौदा दो लाख रूपये में तय हुआ था जिसकी पहली किश्त के रूप में पचास हजार (50,000/-) रूपये की रिश्वत लेते हुये आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ इकाई ग्वालियर की टीम द्वारा आज मनीष कन्नोजिया, जोनल ऑफीसर क्षेत्र क्रमांक 14, शारदा विहार कॉलोनी, नगर निगम ग्वालियर एवं 2- इन्दर सिंह टाईमकीपर नगर निगम ग्वालियर को रिश्वत की राशि लेते हुये गिरफ्तार किया गया। आवश्यक दस्तावेजों की तलाश हेतु आरोपी मनीष कन्नोजिया के घर जी-3, पी.एच.ई. कॉलोनी, हजीरा ग्वालियर स्थित शासकीय निवास पर सचिंग की कार्यवाही की जा रही है।

सचिंग के दौरान अभी तक उसके घर से 3,32,600/-रूपये नगद, लगभग 6 तोला सोना के जेवर, चांदी के जेवर, एक प्लाट की रजिस्ट्री , एल. आई.सी. की पॉलिसियां, अन्य दस्तावेज, भारतीय स्टेट बैंक के तीन खाते, एटीएम कार्ड एवं पंजाब नेशनल बैंक के दो खातों की जानकारी प्राप्त हुयी है। एक लॉकर का होने की जानकारी प्राप्त हुयी है। आरोपी के पास एक केटा गाडी, एक एक्टिवा तथा एक हीरो होण्डा साईन मोटर सायकल भी पायी गयी है। कार्यवाही जारी है।

Advertisements