जबलपुर में क्रिकेट सटोरियों का दुस्साहस, युवक का अपहरण कर किया अधमरा

Advertisements

जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें क्रिकेट सटोरिया ने अपने साथियों के साथ रुपया वसूलने के लिए युवक का उस वक्त अपहरण कर लिया, जब वह माढ़ोताल क्षेत्र में अपने दोस्त के साथ चाय पी रहा था, सटोरिया व उसके साथी स्कार्पियों कार में बिठाकर युवक को तिलवारा क्षेत्र के एक खेत में ले गए, जहां पर युवक को बुरी तरह पीटा और घर वालों से रुपया बुलवाने के लिए फोन कराया, इसके बाद जब युवक ने फोन करने से मना किया तो और मारा. बाद में घायल युवक को वहीं छोड़कर भाग निकले.

पुलिस के अनुसार पुष्पक नगर अधारताल निवासी सचिन गुप्ता उम्र 25 वर्ष एक निजी कंपनी में बनाई गई टीम का लीडर है, जिसपर करीब तीन साल पहुंचे क्रि केट का सट्टा खेलते हुए 30 हजार रुपए का कर्ज हो गया था, उक्त रुपया सचिन गुप्ता ने भरतीपुर के सटोरिया दीपू सोनकर को धीरे धीरे करके 30 हजार रुपए दे दिए, इसके बाद भी सटोरिया दीपू सोनकर द्वारा सचिन गुप्ता से ब्याज सहित दो लाख रुपए की और मांग कर रहा था, सचिन ने उक्त रुपया देने से मना किया, तभी से सटोरिया दीपू सोनकर हर वक्त सचिन से रुपया वसूलने के लिए घूमता रहा, बीती दोपहर सचिन गुप्ता सूरतलाई के पास अपने दोस्त शशांक के साथ दुकान पर चाय पी रहा था, इस दौरान स्कार्पियों से सटोरिया दीपू सोनकर अपने साथियों के साथ पहुंचा और सचिन गुप्ता को घसीटकर स्कार्पियो में बिठाया और तिलवारा घाट के पास खेत ले गया, इधर सचिन गुप्ता का अपहरण किए जाने से घबराए शशांक ने टीम के साथियों की मदद से थाना माढ़ोताल में खबर दी, जिसके चलते पुलिस अधिकारी भी सक्रिय हो गए.

इसे भी पढ़ें-  Jabalpur News: जबलपुर के भेड़ाघाट पंचवटी में पिंचरे में फंसा मगरमच्छ, वन विभाग ने किया रेस्‍क्‍यू

उन्होने अपहरणकर्ताओं की तलाश शुरु कर दी. वहीं तिलवारा स्थित खेत में ले जाकर दीपू सोनकर ने सचिन गुप्ता से मोबाइल फोन पर परिजनों से बातचीत करते हुए दो लाख रुपए मंगाने के लिए कहा, सचिन द्वारा मना किए जाने पर उसके साथ बुरी तरह मारपीट की. इसके बाद भी सचिन ने जब फोन नहीं लगाया तो वहीं छोड़कर सटोरिया दीपू सोनकर व उसके साथी भाग गए. फिर सचिन ने अपने भाई निखिल को फोन करके जानकारी दी, तब भाई सहित अन्य परिजन पहुंचे और सचिन को लेकर थाना पहुंचे, जहां पर पुलिस को घटनाक्रम की जानकारी दी. दिनदहाड़े सचिन गुप्ता का अपहरण किए जाने की खबर से क्षेत्र में भी सनसनी व्याप्त रही. पुलिस अब दीपू सोनकर व उसके साथियों को पकडऩे के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है.

इसे भी पढ़ें-  Soap and Detergent Prices: आम आदमी को लगा एक और जोर का झटका! अब महंगे हुए व्हील, रिन और लक्स जैसे साबुन और सर्फ, इतने रुपये बढ़े दाम

एक दिन पहले जनसुनवाई में पीडि़त ने की थी शिकायत-

खबर है कि सचिन गुप्ता ने एक दिन पहले ही एसपी आफिस पहुंचकर जनसुनवाई में दीपू सोनकर के खिलाफ शिकायत की थी, कि वह 30 हजार रुपए के बदले दो लाख रुपए ब्याज सहित मांग रहा था, यहां तक कि दीपू सोनकर ने सोमवार को भी उसके साथ मारपीट की थी. यदि पुलिस द्वारा उस वक्त ही दीपू सोनकर पर कार्यवाही की जाती तो इतना बड़ा घटनाक्रम नहीं होता.

Advertisements