नए शोध में दावा: त्वचा पर चकत्ते भी हो सकते हैं कोरोना वायरस के शुरुआती संकेत

Advertisements

दुनियाभर में अब तक कोरोना वायरस से 12 करोड़ 13 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 26 लाख 84 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि कोरोना वायरस महामारी में एक साल बिताने के बाद कोविड-19 के विभिन्न संकेतों और लक्षणों को लेकर लोग अधिक जागरूक और जानकार हो गए हैं। वैसे तो इसके कई सारे लक्षण हैं, जिसमें अब स्किन रैशेज (त्वचा पर चकत्ते) को भी शामिल कर लिया गया है। एक नए शोध में इसके बारे में बताया गया है। ब्रिटिश जर्नल ऑफ डर्मेटोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन में यह पाया गया है कि त्वचा पर चकत्ते वयस्कों के बीच कोरोना संक्रमण का एक मजबूत शुरुआती संकेतक बन गए हैं।

इसे भी पढ़ें-  MP में कक्षा 9 और 11वीं की परीक्षाएं रद्द, तुगलकी लॉकडाउन' लगाने और घंटी बजवाने की रणनीति- राहुल गाँधी

कभी-कभी एलर्जी की वजह से भी त्वचा पर चकत्ते निकल आते हैं, आप इसे नजरअंदाज कर सकते हैं, लेकिन ये चकत्ते अगर लाल हैं और किसी गांठ की तरह दिखाई दे रहे हैं तो यह कोविड-19 के कारण होने वाली सूजन के कारण हो सकता है। इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें।

ध्ययन के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने 3,36,847 लोगों द्वारा दिए गए डेटा और जानकारी का मूल्यांकन किया। ये वो लोग थे, जिन्होंने कोरोना के लक्षणों को पंजीकृत करने के लिए एक ऐप का उपयोग किया था। इसके अलावा शोधकर्ताओं ने एक स्वतंत्र ऑनलाइन सर्वे के डेटा का भी उपयोग किया, जिसमें लोगों ने त्वचा संबंधी लक्षणों के अपने अनुभव के बारे में बताया था।

इसे भी पढ़ें-  100 नए अस्पतालों में PM-CARES Fund से लगाए जाएंगे ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना संकट के बीच सरकार का बड़ा फैसला

अध्ययन के मुताबिक, कुल 11,544 लोगों पर किए गए एक ऑनलाइन सर्वे में कोरोना संक्रमित लोगों में से 17 फीसदी ने कोविड के अपने पहले लक्षण के रूप में त्वचा पर चकत्ते की सूचना दी, जबकि 21 फीसदी ने इसे एकमात्र लक्षण के रूप में अनुभव किया।

eकोरोना के अन्य लक्षण
बुखार, सूखी खांसी, थकान
खुजली और दर्द
गले में खराश
दस्त
आंख आना, सिरदर्द
स्वाद और गंध न पता चलना
सांस लेने में दिक्कत या सांस फूलना

Advertisements