Home Guard का बड़ा आरोप: अधिकारी ने कराई तेल मालिश, खाना बनवाया …और कराते हैं गंदा काम

Advertisements

होमगार्ड ने अपने ही अधिकारी पर जबरन तेल मालिश कराने और खाना बनवाने का आरोप लगाया है। आरोप है कि अधिकारी शराब पीने के बाद कुकर्म कराने का भी दबाव बनाते हैं।

पीड़ित ने डीजी होमगार्ड को शिकायती पत्र लिखा है। सोमवार रात प्रार्थना पत्र सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद घटना सामने आई। फिलहाल डिविजनल कमांडेंट ने जांच शुरू कर दी है।

 

15 दिन पहले एक होमगार्ड ने डीजी कमांडेंट को प्रार्थना पत्र भेजा था। पीड़ित होमगार्ड चिनौर स्थित जिला कमांडेंट कार्यालय में तैनात है। उसका आरोप है कि पिछले कई साल से उस पर अत्याचार किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-  सरकारी स्‍कूल में प्रवेश लेना चाहते हैं, निजी स्कूल नहीं दे रहे टीसी, अभिभावक व छात्र परेशान

एक अधिकारी जबरदस्ती अपने कार्यालय में उसकी ड्यूटी लगाते हैं। अधिकारी उसे अश्लील गालियां देने के साथ जबरन खाना बनवाते हैं। तेल मालिश भी करवाते हैं। उसके विरोध करने पर नौकरी से निकालने की धमकी दी जाती है।

होमगार्ड का आरोप है कि पछले डेढ़ साल से शराब पीने के बाद उससे अधिकारी दुष्कर्म कराते हैं। उसके मना करने पर जान से मारने और नौकरी से निकालने की धमकी देते हैं।

प्रार्थना पत्र में होमगार्ड ने कार्यालय के एक बाबू पर प्रतिमाह एक हजार रुपये वसूलने और फर्जी रूप से आवास के रुपये निकालने का आरोप है। कई होमगार्ड की उम्र बढ़ाकर फर्जी दस्तावेज बनाकर ड्यूटी पर रखने का अभी आरोप है।

इसे भी पढ़ें-  WhatsApp का ब्लू टिक बंद है? ऐसे जानें आपका मैसेज पढ़ा है या नहीं

पीड़ित होमगार्ड ने गोपनीय जांच कराने की मांग की है।पीड़ित होमगार्ड की ओर से भेजा गया सोमवार रात शिकायती पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। अफसरों को इसकी जानकारी मिली तो खलबली मच गई।

अधिकारी ने आरोप बताए निराधार- अधिकारी ने होमगार्ड के आरोपों को असत्य और निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि वह 26 जून 2019 को शाहजहांपुर आए थे। आरोप लगाने वाला होमगार्ड तब भी कार्यालय में तैनात था। उन्होंने बताया कि बरेली के डिविजनल कमांडेंट इस प्रकरण की जांच कर रहे हैं। जांच में सच्चाई सामने आ जाएगी।

 

Advertisements