7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, जल्द सैलरी में होगा इजाफा

Advertisements

7th Pay Commission: देश के लाखों सरकारी कर्मचारियों को अगले महीने जबरदस्त फायदा होने वाला है। उनके महंगाई भत्ता के साथ सैलरी भी बढ़ने वाली है। दरअसल कोरोना वायरस के कारण जनवरी से जुलाई 2020 और जुलाई से दिसंबर कुल 7 फीसद का डीए केंद्रीय कर्मचारियों को नहीं मिला है।

अब जनवरी से जुलाई 2021 के महंगाई भत्ते का ऐलान होगा, जो करीब 4 फीसद हो सकता है। सरकार द्वारा महंगाई भत्ता में वृद्धि करते ही कर्मचारियों के वेतन पर इसका असर होगा। नियमों के मुताबिक बेसिक सैलरी के हिसाब से पीएफ और ग्रैच्युटी काटी जाती है। वहीं नए वेज कोड में सीटीसी में मूल तनख्वाह 50 प्रतिशत से कम नहीं होना चाहिए। डीए बढ़ने से पेंशनर्स को भी फायदा होगा। डीए में बढ़ोतरी होने पर पेंशनर को 10 हजार रुपए की जगह करीब 16 हजार रुपए तक पेंशन हर माह मिलेगी। नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत के साथ नया श्रम कानून लागू हो सकता है। केंद्र सरकार इसे 1 अप्रैल से लागू कर सकती है। इस नए कानून से लोगों की टेक होम सैलरी पर असर पड़ेगा।वर्तमान में, केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 17 प्रतिशत की दर से डीए मिलता है। महंगाई भत्ते की यह दर जुलाई 2019 से प्रभावी है। डीए दर में अगला संशोधन जनवरी 2020 से प्रभावी होना था, लेकिन कोरोनावायरस महामारी के कारण जुलाई 2020 और जनवरी 2021 में संशोधन निलंबित कर दिए गए थे।

इसे भी पढ़ें-  तबियत को लेकर चल रही अफवाह पर कटनी कलेक्टर बोले-मेरा स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक, जिले वासी स्वस्थ रहें यही कामना

 

बढ़ोतरी के बाद, केंद्र सरकार के कर्मचारियों को उनका डीए 21 प्रतिशत पर मिलेगा। बीते साल, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते को चार प्रतिशत बढ़ाकर कुल 21 प्रतिशत कर दिया था। यह 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी होना था, लेकिन महामारी के कारण महंगाई भत्ते और डीआर का भुगतान करने का निर्णय महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था। अब इस फैसले के बाद, केंद्र सरकार के कर्मचारी और पेंशनर्स 1 जुलाई से महंगाई भत्ते में तेज वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं।

Advertisements