कंट्रोल रूम में बैठक के दौरान भड़के जबलपुर के व्यापारी, किया बहिष्कार, लगाए आरोप

Advertisements

जबलपुर। जबलपुर के व्यापारियों ने आज उस वक्त नाराजगी जाहिर की जब उन्हें कंट्रोल रूम में बैठक के दौरान पिछली समस्याओं पर ध्यान नही देते अधिकारियों ने गुमराह करने की कोशिश की।

कंट्रोल रूम में मंगलवार को उस समय हड़कंप मच गया जब व्यापारी भड़क गए। नगर निगम अधिकारियों की बैठक में अनुपस्थिति को लेकर व्यापारियों ने कहा कि निगम के अधिकारी व्यापारियों की समस्याओं की तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं।

सालों से समस्याएं लंबित है सिर्फ नगर निगम अधिकारी आश्वासन दे रहे हैं। इतनी महत्वपूर्ण बैठक आयोजित होने पर भी निगम के मुख्य अधिकारी नहीं पहुंचे, खानापूर्ति के लिए ऐसी बैठक आयोजित करने का क्या औचित्य है। कंट्रोल रूम में मंगलवार को व्यापारी और प्रशासनिक अधिकारियों की बीच बैठक आयोजित की गई थी लेकिन बैठक में बड़े अधिकारी शामिल नहीं होने से व्यापारियों ने बैठक का बहिष्कार कर दिया।

इसे भी पढ़ें-  CBSE Class 12 compartment 2021: परीक्षा रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कंपार्टमेंट व प्राइवेट छात्र

बीच बैठक में उठकर चले गए व्यापारी
व्यापारी और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच बैठक कुछ देर ही चल पाई क्योंकि व्यापारी ने इस बात से नाराज थे कि सालों से वह वन वे रोड, पार्किंग के लिए स्थान चिन्हित, अतिक्रमणों को हटाने संबंधी समस्याओं को दूर करने की मांग कर रहे हैं परंतु नगर निगम के अधिकारी ध्यान ही नहीं दे रहे हैं।

क्यों खफा हुए व्यापारी

आज कंट्रोल रूम में 10 एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट नगर निगम एवं पुलिस प्रशासन के साथ एक आवश्यक बैठक आयोजित की गई थी जो की जानकारी यातायात थाने से प्रेषित की गई थी परंतु इस बैठक में यातायत विभाग से संजय अग्रवाल प्रशासन स्तर पर एडीएम हर्ष दीक्षित ऋषभ जैन और नगर निगम प्रशासन की ओर से क्योंकि 1 घंटे तक कोई अधिकारी नहीं आया और उसके पश्चात एक संभागीय स्तर के अधिकारी को जिनका की शुभनाम प्रदीप तिवारी था उनको भेजा गया जिससे पूरे 10 व्यापारी संघ के पदाधिकारी विचलित हो गए और उन्होंने उस बैठक का बहिष्कार किया।

इसे भी पढ़ें-  CBSE Exam News Update: 12वीं का रिजल्ट:बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को बताया- हालात सुधरे तो अगस्त-सितंबर के बीच हो सकते हैं ऑप्शनल एग्जाम

व्यापारियों ने कहा कि इसके पूर्व कई बैठकें आमंत्रित की गई थी और यही आश्वासन दिया गया था की सभी प्रशासनिक स्तर के अधिकारी उपस्थित रहेंगे, परंतु बार-बार अनुरोध के बाद भी नगर निगम से कोई भी प्रशासनिक अधिकारी की उपस्थिति ना देखते हुए सर्राफा एसोसिएशन जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता संघ रेडीमेड व्यापारी संघ कोतवाली बाजार एसोसिएशन जबलपुर इमिटेशन एंड बेंगल एसोसिएशन लार्डगंज व्यापारी संघ अंधेरेदेव व्यापारी संघ खजांची चौक कपड़ा व्यापारी संघ नॉर्मल स्कूल व्यापारी संघ व्यापारी संघ और भाजपा प्रकोष्ठ के पदाधिकारी भी सम्मिलित हुए।

इस बैठक में बार-बार अनुरोध के बाद भी जब नगर निगम से कोई भी निर्णय लेने वाले अधिकारी नहीं पहुंचा तो मजबूरन समस्त एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बहिष्कार किया ।

इसे भी पढ़ें-  इमरान खान बोले- कश्मीर मसला सुलझ जाए तो परमाणु बम जरूरी नहीं, उइगरों पर बोलती बंद

इस अवसर पर राजा सराफ नवनीत जैन अनूप अग्रवाल राजेश सराफ महेंद्र ओसवाल नितिन जैन अभिषेक जैन हेमंत अग्रवाल सुनील आडवाणी शकील अख्तर अमित जैन राकेश अग्रवाल सुनील ठाकुर मंजू जैन अनुराग जैन संतोष पोद्दार विक्रांत जैन मोनू साहू मनीष जी दीक्षित एवं भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे आज के इस विरोध का पूरी जिम्मेदारी नगर निगम प्रशासन की है जो कि अपने तानाशाही रवैया से व्यापारियों में अपना आक्रोश व्यक्त करने को मजबूर कर रही है।

 

Advertisements