बढ़ते कोरोना से चिंता में सरकार, PM मोदी ने बुलाई मुख्यमंत्रियों की बैठक

Advertisements

नई दिल्ली। देश में फिर से बढ़ रहे कोरोना वायरस केसों ने केंद्र और राज्य सरकारों को चिंता में डाल दिया है। यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है। जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 17 मार्च को मुख्यमंत्रियों की बैठक में वैक्सीनेशन पर जोर देने की चर्चा करेंगे। इसके साथ ही पीएम राज्यों से कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई और टीकाकरण अभियान की प्रोग्रेस भी जानेंगे। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की यह बैठक वर्चुअल होगी।

आपको बता दें कि पंजाब, गुजरात और महाराष्ट्र समेत कई देशों में कोरोना वायरस के मामलों में पिछले कई दिनों उछाल देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि महाराष्ट्र के कई शहरों में लॉकडाउन लगाया जा सकता है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खुद इस बात चेतावनी दे चुके हैं। सीएम ठाकरे ने कहा है कि लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों को देखते हुए भविष्य में सख्त लॉकडाउन जैसा कदम उठाया जा सकता है। नागपुर में राज्य सरकार पहले ही 15 मार्च से 21 मार्च तक लॉकडाउन का ऐलान कर चुकी है। वहीं, गुजरात के कई शहरों में स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया गया है। यहां स्कूलों में आए कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच राज्य सरकार ने अग्रिम आदेशों तक स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है।

इसे भी पढ़ें-  MP Board 10th, 12th Exam 2021: एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षा एक महीने के लिए स्थगित

दिनों के बाद कोविड-19 के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 26,291 मामले दर्ज हुए हैं, जो रविवार के आंकड़ों से 971 ज्यादा हैं। वहीं इस दौरान 118 मौतें भी हुईं। हालांकि यह संख्या एक दिन पहले की मृत्यु संख्या से 43 कम रही। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 15 मार्च सोमवार से पहले 18 दिसंबर को देश में 26,991 मामले दर्ज किए गए थे। अब देश में मामलों की कुल संख्या 1,13,85,339 और मरने वालों की संख्या 1,58,725 तक पहुंच गई है।

इन नए मामलों में से 72 फीसदी मामले केवल 3 राज्यों के हैं। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 16,620 मामले दर्ज किए गए। राज्य में इस साल दर्ज हुए दैनिक मामलों की यह सबसे बड़ी संख्या है। वहीं पंजाब में 1,501 और गुजरात में 810 नए मामले दर्ज किए गए।

Advertisements