फतेहपुर में मिलावटी शराब से 10 मजदूरों की हालत बिगड़ी, दो की मौत

Advertisements

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में मिलावटी शराब पीने से 10 मजदूरों की हालत बिगड़ गई। इनमें दो की मौत हो गई, जबकि एक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी ने ठेके से लाई गई शराब पी थी। आबकारी टीम व पुलिस ने और फिर डीएम-एसपी ने गांव पहुंचकर मामले की जांच की।

फतेहपुर में गाजीपुर क्षेत्र के भौली गांव निवासी कामता मौर्या ने बुधवार देर शाम मकान की स्लेब डलवाई थी। गांव के 15 से 20 लोग और मजदूरों ने उनका सहयोग किया। स्लेब की ढलाई पूरी होने के बाद सुकेती के शराब ठेके से 1700 रुपए की शराब मंगाई गई। कामता के भाई भोला के अलावा गांव के रामराज, मोती, रामराज समेत लगभग सभी लोगों ने शराब पी। देर रात शराब पीने वाले अधिकतर लोगों की तबियत बिगड़ गई।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: पॉजीटिव केस में कमी, 24 घंटे में 199 नए संक्रमित, 55 लोगो ने दी कोरोना को मात

भोला, मोती और रामराज की हालत नाजुक होने पर उन्हें अस्पताल ले जाने की तैयारी हो रही थी, लेकिन भोला की गांव में ही सांसे थम गईं। मोती-रामराज को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान मोती की भी मौत हो गई। जबकि रामराज की हालत गंभीर है। दो मौतों के गांव में हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी मिलते पर स्थानीय पुलिस और आबकारी टीम मौके पर पहुंची, शराब पीने वाले सभी लोगों को उल्टी, सिर दर्द और रोशनी की समस्या हो रही है।

एसपी के साथ मौके पर पहुंचकर शराब पीने वाले सभी लोगों पूछताछ की गई, उन्हें हल्की परेशानी हैं। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मरने वालों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। जांच जारी है। कोई भी दोषी मिला तो सख्त कार्रवाई होगी। – अपूर्वा दुबे, डीएम फतेहपुर

Advertisements