Jabalpur News: ग्वारीघाट में हंगामे के बाद रुकी फ़िल्म शूटिंग, जनिये पूरा मामला

Advertisements

जबलपुर। एमपी के जबलपुर में मंगलवार रात एक फिल्म की शूटिंग के दौरान खूब हंगामा हुआ। एक सीन की शूटिंग के लिए ग्वारीघाट के सिद्धघाट पर फिल्म की यूनिट ने ट्रैक्टर और क्रेन उतार दिए। इससे आक्रोशित लोगों ने बवाल खड़ा कर दिया। मौके पर पहुंचे बीजेपी नेताओं ने ग्वारीघाट थाने में फिल्म कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। बाद में कंपनी के अधिकारियों ने सरकारी संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई करने का आश्वासन दिया और मामला शांत हुआ।

हैदराबाद की फिल्म निर्माण कंपनी आइडियल फिल्म मेकर जबलपुर में पिछले करीब दो माह से शूटिंग कर रही है। मंगलवार रात जब फ़िल्म की टीम ग्वारीघाट में एक दृश्य का फिल्मांकन कर रही थी, उसी दौरान हंगामे की स्थिति बन गई। जानकारी के मुताबिक मंगलवार की रात फिल्म की यूनिट ने सिद्ध घाट व उमा घाट पर ट्रैक्टर और क्रेन उतार दिए। इससे करोड़ों की लागत से बनी घाट क्षतिग्रत हो गई। इसके विरोध में पहले स्थानीय लोग खड़े हुए और शूटिंग रुकवा दी।

इसके ठीक बाद जबलपुर के पूर्व महापौर प्रभात साहू वहां पहुंच गए। स्थानीय लोगों के साथ उन्होंने फिल्म कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। फिल्म कंपनी ने शूटिंग के लिए प्रशासन की अनुमति लेने का दावा किया, लेकिन लोगों ने यह कह कर रोष जताया कि शूटिंग के लिए घाट को नुकसान पहुंचाने की इजाजत नहीं दी जा सकती।

मौके पर पहुंचे नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि शूटिंग के लिए निगम से अनुमति नहीं ली गई। निगम अधिकारियों ने भी फिल्म कंपनी के खिलाफ ग्वारीघाट थाने में शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में एफआईआर दर्ज करवाई। इधर, अधिकारियों के साथ बातचीत में फिल्म कंपनी के अधिकारियों ने घाट पर हुई तोड़-फोड़ की भरपाई करने का आश्वासन दिया, तब मामला शांत हुआ। कुछ साल पहले नर्मदा तट पर श्रद्धालुओं के लिए करोड़ों की लागत से इन घाटों का निर्माण किया गया था। सवाल ये उठता है कि फ़िल्म कम्पनी ने प्रशासन के बगैर अनुमति के शूटिंग कैसे शुरू कर दी।

Advertisements